NDTV Khabar

गुरमेहर कौर ने कहा, वीरेंद्र सहवाग का ट्वीट देख टूट गया दिल, खुद को अलग किया कैम्पेन से

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गुरमेहर कौर ने कहा, वीरेंद्र सहवाग का ट्वीट देख टूट गया दिल, खुद को अलग किया कैम्पेन से
नई दिल्ली:

लगातार चर्चा में बनी हुई दिल्ली विश्वविद्यालय की छात्रा तथा करगिल शहीद की बेटी गुरमेहर कौर ने कहा है कि पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग के ट्वीट के बाद उनका दिल टूट गया है. उन्होंने यह भी कहा कि वह अभियान से खुद को अलग कर रही हैं.

NDTV के शो 'लेफ्ट, राइट एंड सेंटर' के दौरान गुरमेहर कौर ने कहा, "(वीरेंद्र) सहवाग का ट्वीट देखकर मेरा दिल टूट गया... मैं बचपन से उन्हें खेलते हुए देखती आ रही हूं..." दरअसल, गुरमेहर ने एक पोस्ट में कहा था कि वर्ष 1999 में करगिल युद्ध के दौरान शहीद हुए उसके पिता को पाकिस्तान ने नहीं, युद्ध ने मारा था, और कथित रूप से इसी पोस्ट के जवाब में वीरेंद्र सहवाग ने ट्वीट किया था - 'मैंने दो तिहरे शतक नहीं जड़े, मेरे बल्ले ने जड़े थे...'

टिप्पणियां

अब मंगलवार को कुछ ही देर पहले गुरमेहर कौर ने फेसबुक पर लिखा है, "मैं कैम्पेन से खुद को अलग कर रही हूं... सभी को बधाई... मैं जो कहना चाहती थी, कह चुकी हूं... मैंने बहुत कुछ सहा है, और 20 साल की उम्र में इतना ही मैं सह सकती थी... यह कैम्पेन मेरे बारे में नहीं, विद्यार्थियों के बारे में था... कृपया बड़ी संख्या में इसमें शिरकत करें... सभी को शुभकामनाएं... मेरी बहादुरी और हिम्मत पर सवाल उठाने वाले किसी भी शख्स से कहना चाहूंगी, मैं काफी बहादुरी दिखा चुकी हूं... यह तय है कि किसी को भी धमकियां देने या हिंसा का रास्ता अपनाने से पहले अब हम कम से कम दो बार सोचेंगे ज़रूर... मैं सभी से अनुरोध करती हूं कि मुझे अकेला छोड़ दिया जाए..."


गुरमेहर कौर ने यह आरोप भी लगाया था कि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) की ओर से उन्हें रेप की धमकियां दी गई, क्योंकि कुछ समय पहले उन्होंने एक फेसबुक पोस्ट में युद्ध की मुखालफत करते हुए वीडियो पोस्ट किया था, और इसी वीडियो में उन्होंने अपने पिता की मृत्यु के लिए पाकिस्तान को नहीं, युद्ध को दोषी ठहराया था.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement