NDTV Khabar

मुंबई : 11 मई को गिरफ्तार संदिग्ध आतंकी फ़ैसल मिर्ज़ा के हैंडलर को भी दुबई में हिरासत में लिया गया

फ़ैसल पर आरोप है कि वो पाकिस्तान से आतंक की ट्रेनिंग लेकर हाल ही में लौटा है और यहां अगले आदेश के इंतजार में था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मुंबई : 11 मई को गिरफ्तार संदिग्ध आतंकी फ़ैसल मिर्ज़ा के हैंडलर को भी दुबई में हिरासत में लिया गया

महराष्ट्र एटीएस को मिली इस बड़ी सफलता के पीछे कोलकाता एसटीएफ का बड़ा हाथ है

खास बातें

  1. देवडीवाला पर अहमदाबाद में पोटा के खिलाफ भी मामला दर्ज है.
  2. उसके खिलाफ रेड कार्नर नोटिस भी जारा था.
  3. फ़ारुख़ से मिली सुचना के आधार पर ही फ़ैसल की गिरफ्तारी हुई है.
मुंबई: मुंबई में 11 मई को गिरफ्तार संदिग्ध आतंकी फ़ैसल मिर्ज़ा के हैंडलर को भी दुबई में हिरासत में लेने की खबर है. हैंडलर फ़ारुख़ देवडीवाला पर अहमदाबाद में पोटा के खिलाफ भी मामला दर्ज है. उसके खिलाफ रेड कार्नर नोटिस भी जारी थी. सूत्रों की माने तो सुरक्षा एजेंसियों के लिए ये बड़ी सफलता है क्यूंकि फ़ारुख़ के जरिये एक बार फिर आईएसआई, आतंक और अंडरवर्ल्ड का गठजोड़ बन रहा था और मुंबई, गुजरात और उत्तरप्रदेश को दहलाने की तैयारी थी. महाराष्ट्र एटीएस ने 11 मई को जोगेश्वरी के बेहराम बाग से 38 साल के फ़ैसल मिर्ज़ा को गिरफ्तार किया. बताया जाता है कि फ़ारुख़ से मिली सुचना के आधार पर ही फ़ैसल की गिरफ्तारी हुई है.

यह भी पढ़ें : ठाणे में अवैध अंतरराष्‍ट्रीय टेलीफोन एक्‍सचेंज का भंडाफोड़

फ़ैसल पर आरोप है कि वो पाकिस्तान से आतंक की ट्रेनिंग लेकर हाल ही में लौटा है और यहां अगले आदेश के इंतजार में था. लेकिन उसके पहले ही एजेंसियों को भनक लग गई. महाराष्ट्र एटीएस अतुल कुलकर्णी की माने तो फ़ैसल की गिरफ्तारी से साफ है कि पाकिस्तान में अब भी आतंकी ट्रेनिंग कैंप जारी हैं और वहां की जासूसी एजेंसी आईएसआई का उन्हें समर्थन मिला हुआ है. क्यूंकि उसके हैंडलर फ़ारुख़ ने फ़ैसल को दुबई से पाकिस्तान होकर नैरोबी जाने वाले जहाज़ में बैठाया था लेकिन उसे पाकिस्तान में ही उतर जाने की हिदायत दी थी.

टिप्पणियां
ध्यान देने वाली बात है कि बोर्डिंग कार्ड अगर नैरोबी तक का है तो बीच में उस यात्री को उतरने नहीं दिया जाता. फिर फ़ैसल को कैसे पाकिस्तान में उतरने दिया गया. बिना आईएसआई के ये सम्भव नहीं था. एटीएस के मुताबिक ये आतंकियों की नई मोडस ओपेरंडी है. महाराष्ट्र एटीएस में डीसीपी धनंजय कुलकर्णी के मुताबिक जांच में पता चला है कि फ़ैसल को पाकिस्तान में बम बनाने, हथियार चलाने से लेकर फिदायीन बनने की भी ट्रेनिंग दी गई.  फ़ैसल से पूछताछ में 7 ऐसे पाकिस्तानियों के बारे में पता चला है जिन्होंने उसे आतंकी ट्रेनिंग और पनाह देने में मदद की थी.

VIDEO : ATS ने शख्स को किया गिरफ्तार, पाकिस्तान में आतंकी ट्रेनिग लेने का है आरोप​
पता चला है कि फ़ैसल के निशाने पर देश के दो बड़े नेता भी थे लेकिन एटीएस का कहना है की अभी इस पर कुछ बोल पाना जल्दबाजी होगी. दरअसल महराष्ट्र एटीएस को मिली इस बड़ी सफलता के पीछे कोलकाता एसटीएफ का बड़ा हाथ है. पता चला है कि कोलकाता एसटीएफ को दिल्ली में 2 संदिग्धों की जानकारी मिली थी. उसी सूचना पर काम करते हुए दिल्ली पुलिस ने उन दो संदिग्धों को गिरफ्तार किया. जिनसे पूछताछ में शारजाह में बैठे फ़ारुख़ देवड़ीवाला का सुराग मिला और फिर उसके बाद फ़ैसल मिर्ज़ा का.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement