NDTV Khabar

BJP सांसद ने लगाए 'भारत मां की जय' के नारे तो लोकसभा स्पीकर बोले- ये सदन है, नारेबाजी ठीक नहीं, अपनी बात कहिए

प्रसिद्ध गायक और सांसद हंसराज हंस ने लोकसभा में पीएम मोदी की तारीफ की. वह पहली बार सदन में बोल रहे थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
BJP सांसद ने लगाए 'भारत मां की जय' के नारे तो लोकसभा स्पीकर बोले- ये सदन है, नारेबाजी ठीक नहीं, अपनी बात कहिए

हंसराज हंस (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. सांसद हंसराज हंस ने लोकसभा में पीएम मोदी की तारीफ की
  2. कहा- मैं अपने महबूब प्रधानमंत्री का शुक्रगुजार हूं
  3. सदन में 'भारत माता की जय' के लगे नारे, स्पीकर बोले- नारेबाजी ठीक नहीं
नई दिल्ली:

प्रसिद्ध गायक और सांसद हंसराज हंस (Hans Raj Hans) ने लोकसभा में पीएम मोदी की तारीफ की. वह पहली बार सदन में बोल रहे थे. इस दौरान उन्होंने कहा, 'मैं अपने महबूब प्रधानमंत्री का शुक्रगुजार हूं.' उन्होंने पंजाब, नशा और गरीबी के मुद्दे पर बात की. उन्होंने कुछ बातें गाकर कीं और कुछ सुनाकर कीं. आखिर में जब सदन में 'भारत माता की जय' के नारे लगे तो स्पीकर ओम बिरला (Om Birla) ने कहा, 'ये सदन है, अपनी बात कहें, नारेबाजी ठीक नहीं है.' वहीं हंसराज हंस (Hans Raj Hans) के बोलने से पहले कई सांसदों ने उनका सूफी कार्यक्रम कराने की मांग की. इस पर स्पीकर ने कहा कि कार्यक्रम कराएंगे. 

राहुल गांधी ने फिर कहा- अब मैं पार्टी अध्यक्ष नहीं हूं, कांग्रेस ने कहा- एक सप्ताह में हो जाएगा फैसला


वहीं पश्चिम बंगाल की सरकार पर ‘कट मनी' लिये जाने के आरोपों पर बुधवार को लोकसभा में तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के सदस्यों के बीच तीखी नोकझोंक देखने को मिली और उन्हें शांत करवाते हुए लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को यहां तक कहना पड़ा कि ‘सदन को बंगाल विधानसभा मत बनाइए.' भाजपा की लॉकेट चटर्जी ने मंगलवार को सदन में शून्यकाल के दौरान आरोप लगाया था कि पश्चिम बंगाल में 'जन्म से लेकर मृत्यु तक हर जगह कट मनी ली जाती है.'

BJP-TMC सांसदों के नोंकझोंक पर बोले लोकसभा अध्यक्ष- सदन को बंगाल विधानसभा मत बनाइए

टिप्पणियां

इसके अलावा लोकसभा में एक बार फिर ऐसा मौका आया जब स्पीकर को बीच में बोलना पड़ा. दरअसल लोकसभा में ‘केंद्रीय शैक्षणिक संस्था (शिक्षकों के काडर में आरक्षण) विधेयक-2019' पर चर्चा का जवाब देते हुए मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने जब एक सदस्य को अपनी बात रखने का मौका दिया, तब अध्यक्ष ओम बिरला ने उन्हें टोकते हुए कहा कि ‘मंत्री जी आज्ञा देने का काम मेरा है, आपका नहीं है.' दरअसल, निशंक जब विधेयक पर चर्चा का जवाब दे रहे थे तब राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की सुप्रिया सुले उनसे कुछ कहने के लिए खड़ी हुईं तो मंत्री यह कहते हुए बैठ गए कि ‘आप कुछ कहना चाहती हैं, कहिए.'

Video: लोकसभा की कार्यवाही रोकनी पड़ी



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement