NDTV Khabar

हरीश रावत बने उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री, अपनी कैबिनेट के साथ ली शपथ

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
हरीश रावत बने उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री, अपनी कैबिनेट के साथ ली शपथ
देहरादून: वरिष्ठ कांग्रेस नेता हरीश रावत उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री बन गए हैं। उत्तराखंड के राज्यपाल अजीज कुरैशी ने शनिवार शाम को विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद उन्हें और उनके मंत्रियों को शपथ दिलाई। रावत के साथपूर्ववर्ती विजय बहुगुणा मंत्रिमंडल में शामिल रहे सभी 11 मंत्रियों ने भी पद एवं गोपनीयता की शपथ ग्रहण की। हरीश रावत उत्तराखंड के आठवें मुख्यमंत्री हैं।

शपथ लेने वाले मंत्रियों में इंदिरा हृदयेश, यशपाल आर्य, हरक सिंह रावत, सुरेंद्र सिंह नेगी, प्रीतम सिंह, अमृता रावत, दिनेश अग्रवाल के अलावा सरकार को समर्थन दे रहे प्रगतिशील लोकतांत्रिक मोर्चा के मंत्री प्रसाद नैथानी, प्रीतम सिंह पंवार, हरीश चंद्र दुर्गापाल और सुरेंद्र राकेश शामिल हैं।

शपथ ग्रहण समारोह से पहले, उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद की भी जिम्मेदारी संभाल रहे यशपाल आर्य ने राज्यपाल कुरैशी से मिलकर उन्हें हरीश रावत के कांग्रेस विधानमंडल दल का नया नेता चुने जाने संबंधी पत्र सौंपा।

इससे पहले, पार्टी के तीन केंद्रीय पर्यवेक्षकों महासचिव जर्नादन द्विवेदी, उत्तराखंड के पार्टी मामलों की प्रभारी अंबिका सोनी और केंद्रीय मंत्री गुलाम नबी आजाद की मौजदूगी में हुई राज्य कांग्रेस विधानमंडल दल की लगभग पांच घंटे तक चली बैठक में रावत को नया नेता चुना गया। कांग्रेस विधायकों की बैठक के बाद पार्टी महासचिव जनार्दन द्विवेदी ने मुख्यमंत्री के रूप में रावत के नाम का ऐलान किया।

हालांकि, रावत को विधानमंडल दल का नया नेता चुने जाने के दौरान कुछ विरोध के स्वर भी उठे। सूत्रों ने बताया कि पौड़ी से लोकसभा सांसद सतपाल महाराज ने रावत को नया नेता चुने जाने पर ऐतराज जताया। हालांकि बाद में उन्हें मना लिया गया।

उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री के रूप में औपचारिक ऐलान से पहले ही हरीश रावत के देहरादून पहुंचने पर उनके हजारों समर्थकों और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उनका ढोल-नगाड़ों के बीच भव्य स्वागत किया।

प्रदेश के कद्दावर नेता माने जाने वाले रावत के समर्थकों ने सुबह रेलगाड़ी से उनके उतरते ही रेलवे स्टेशन पर उन्हें घेर लिया और उनके समर्थन में नारे लगाते हुए उन्हें फूल-मालाओं से लाद दिया। रावत के नाम के औपचारिक ऐलान के लिए बुलाई गई कांग्रेस विधानमंडल दल की बैठक से काफी पहले ही उनके समर्थक विधायक बैठक स्थल पर जुटने लगे थे।

(इनपुट भाषा से भी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement