उत्तराखंड में बढ़ते नशे-बेरोजगारी पर फिक्रमंद हुए हरीश रावत, THDC के लिए मोदी सरकार के खिलाफ बोलेंगे हल्ला

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हरीश रावत (Harish Rawat) इन दिनों सोशल मीडिया पर कुछ ज्यादा ही एक्टिव रहते हैं. मंगलवार शाम उन्होंने एक के बाद एक कई ट्वीट किए और मोदी सरकार के खिलाफ हल्ला बोलने का अपना पूरा प्लान जाहिर किया.

उत्तराखंड में बढ़ते नशे-बेरोजगारी पर फिक्रमंद हुए हरीश रावत, THDC के लिए मोदी सरकार के खिलाफ बोलेंगे हल्ला

खास बातें

  • उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हैं हरीश रावत
  • राज्य और मोदी सरकार के खिलाफ बोलेंगे हल्ला
  • सूबे में बढ़ती बेरोजगारी और नशे पर जताई चिंता
नई दिल्ली:

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हरीश रावत (Harish Rawat) इन दिनों सोशल मीडिया पर कुछ ज्यादा ही एक्टिव रहते हैं. मंगलवार शाम उन्होंने एक के बाद एक कई ट्वीट किए और मोदी सरकार के खिलाफ हल्ला बोलने का अपना पूरा प्लान जाहिर किया. मामला टिहरी हाइड्रो डेवलेपमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड (THDC) और राज्य में बढ़ते बेरोजगारी के आंकड़े और बढ़ते नशे के कारोबार से जुड़ा है.

हरीश रावत ने ट्वीट किया, 'बेरोजगारी और उस पर नशा, एक तो कोड़ उस पर खाज, नौजवान बेचैन हैं. उत्तराखण्ड का भविष्य चिंताजनक दिशा की ओर जा रहा है. मुझे उम्मीद थी कि हल्द्वानी में निकाले गए मेरे 'नशा नहीं-रोजगार दो' मार्च के बाद सरकार रिक्त पड़े हुए सरकारी पदों को भरने में दिलचस्पी लेगी. बढ़ते हुए ड्रग्स और नकली शराब के धंधे को नियंत्रित करेगी. दोनों मोर्चों पर सरकार विफल नजर आ रही है. मैंने तय किया है कि इस बार मैं नए वर्ष का स्वागत संघर्ष के संकल्प के साथ करूंगा. वो भी अपनी नौजवान पीढ़ी के भविष्य के लिए, संघर्ष के संकल्प के साथ.'

हरीश रावत ने आगे लिखा, 'मैं, 29, 30 और 31 दिसंबर को 'हर की पैड़ी से ऋषिकेश त्रिवेणी घाट तक' टुकड़ों-टुकड़ों में पदयात्रा करूंगा. 'नशा नहीं-रोजगार दो पदयात्रा'. नए वर्ष के लिए, नए संघर्ष का संकल्प, 'नशा नहीं-रोजगार दो.' THDC पर चिंता जाहिर करते हुए उन्होंने लिखा, 'कल प्रातः जोत सिंह बिष्ट जी ने मुझे बताया कि वो मोदी सरकार की बुद्धि-शुद्धि के लिए टिहरी के सभी मन्दिरों में पूजा करवाने जा रहे हैं, ताकि जो THDC के अस्तित्व को समाप्त करने का षडयंत्र हो रहा है, वह षडयंत्र समाप्त हो और मोदी सरकार जनता की भावनाओं को समझे और कल शाम मुझे टिहरी के एक दूसरे महान पुत्र किशोर उपाध्याय जी ने बताया कि वो गांव-गांव जनजागरण के लिए 'पदयात्रा' प्रारम्भ कर रहे हैं, ताकि सरकार के ऊपर दबाव पैदा हो कि वो THDC का अस्तित्व समाप्त न करें.'

पूर्व मुख्यमंत्री ने आगे लिखा, 'तीसरे हमारे टिहरी के भरत पुत्र, भाई विक्रम सिंह नेगी पहले ही 'टिहरी चलो' का आह्वान कर एक बड़ा कार्यक्रम आयोजित कर चुके हैं. कांग्रेस ने भी पुतला दहन से लेकर विधानसभा तक इस प्रश्न को उठाया है. मेरी भावना केवल एक उत्प्रेरक के तौर पर इस मुद्दे पर राज्य के विरोध को संगठित करने की थी और मुझे बेहद खुशी है कि जो लोग वास्तविक अर्थों में इस लड़ाई को आगे बढ़ा सकते हैं, अब वो आगे आ गए हैं. उन्होंने इस मुद्दे को अपने हाथ में ले लिया है. मैं, उन सब लोगों को THDC जो हमारे स्वाभिमान का प्रतीक है, हमारी पहचान का प्रतीक है, उसको विलुप्त करने का जो षडयंत्र है, उसके खिलाफ उठकर के खड़े हो गए हैं.'

Newsbeep

VIDEO: NRC मसले पर बोले हरीश रावत, किसी भारतीय को बाहर नहीं होने देगी कांग्रेस

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com