NDTV Khabar

करतारपुर कॉरिडोर के पाकिस्तान में होने के लिए नेहरू जिम्मेदार - हरसिमरत कौर बादल

हरसिमरत कौर ने एनडीटीवी से खास बातचीत में कहा कि जिस समय देश का बंटवारा हो रहा था उस समय अगर नेहरू चाहते तो करतारपुर कॉरिडोर ( Kartarpur Corridor Dispute) को भारत की सीमा में रखने के लिए प्रयास किए जा सकते थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. जवाहरलाल नेहरू करतारपुर कॉरिडोर के लिए जिम्मेदार - कौर
  2. इंदिरा गांधी पर भी कौर ने किया हमला
  3. कांग्रेस पार्टी को लेकर भी की टिप्पणी
नई दिल्ली:

केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने करतारपुर कॉरिडोर ( Kartarpur Corridor Dispute) के पाकिस्तान में होने के लिए देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू को जिम्मेदार बताया है. उन्होंने एनडीटीवी से खास बातचीत में कहा कि जिस समय देश का बंटवारा हो रहा था उस समय अगर नेहरू चाहते तो करतारपुर कॉरिडोर ( Kartarpur Corridor Dispute) को भारत की सीमा में रखने के लिए प्रयास किए जा सकते थे. लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया. कौर ने इस दौरान कांग्रेस पार्टी पर भी जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी शुरू से ही सिख विरोधी रही है. जवाहरलाल नेहरू ने जहां करतापुर कॉरिडोर ( Kartarpur Corridor Dispute) के लिए कुछ नहीं किया वहीं इंदिरा गांधी ने स्वर्ण मंदिर में फौज तक घुसवा दी.

करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास पर सिद्धू बोले- मेरे यार, दिलदार इमरान खान का शुक्रिया


एनडीटीवी से बातचीत के दौरान केंद्रीय मंत्री ने पाकिस्तान पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान सरकार इस कॉरिडोर को लेकर भले ही गुगली फेंकती रहे लेकिन मैं यह साफ कर देना चाहती हूं कि यह पूरा मामला सिखों की आस्था से जुड़ा है. पाकिस्तान भले इसे लेकर राजनीति करे लेकिन हम तो बस इतना मानते हैं कि जो हो रहा है यह गुरुनानक देव जी की वजह से हो रहा है. हरसिमरत ने इस दौरान देश के कई राज्यों में बनी कांग्रेस पार्टी की सरकार को लेकर भी टिप्पणी की.

करतारपुर कॉरिडोर: शिलान्यास के पत्थर पर मंत्री ने अपने और सीएम के नाम पर लगाया काला टेप

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने किसानों और आम जनता से झूठ बोला है. कांग्रेस ने कई राज्यों में किसानों से झूठे वादे कर जीत दर्ज की है. उन्होंने प्रियंका गांधी पर भी टिप्पणी की. कौर ने कहा कि प्रियंका गांधी के आने से कांग्रेस को कोई फायदा नहीं होने वाला है. गौरतलब है कि हरसिमरत कौर ने इससे पहले करतारपुर कॉरिडोर को लेकर बयान दिया था. उन्होंने दोनों देश के बीच शुरू हो रही बातचीत को लेकर एनडीटीवी इंडिया से खास बातचीत की थी. उन्‍होंने कहा था कि आज हमारे सिख कैलेंडर के हिसाब से नया साल शुरू होता है. इस नए साल के मुबारक दिन पर दोनों देशों की सरकारों के बीच बात हो रही है. गुरु साहब की कृपा से 70 साल बाद वे इसे हकीकत में तब्‍दील होते देख रहे हैं और गुरु साहब कृपा करें कि जैसे कॉरिडोर इधर बन रहा है वैसे उधर भी बने जिससे मेरे जैसे करोड़ों सिखों को वहां नतमस्तक गुरु साहब कराएं.'

टिप्पणियां

करतारपुर कॉरिडोर को शुरू करने को लेकर दोनों देशों के बीच बनी सहमति, अगली बैठक दो अप्रैल को

जब उनसे पूछा गया कि क्या था कि करतारपुर से दोनों देशों के रिश्ते सुधरेंगे?  तो उन्‍होंने कहा था कि मुझे पूरा भरोसा है कि जब 550 साल पहले गुरु नानक साहब ने इस धरती पर प्रकाश किया था उस समय में वह जगत गुरु के रूप में उभर कर आए. देश के कोने कोने में जाकर धर्मों को देशों को जोड़ने का उन्होंने काम किया और यही आज के दिन इस चीज की ही जरूरत है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement