दिल्ली हिंसा पर हरियाणा सरकार के मंत्री रणजीत चौटाला का अजीब बयान- दंगे तो होते रहते हैं, ज़िन्दगी का हिस्सा हैं

दिल्ली में हुई हिंसा के बीच जहां बीजेपी अपने नेताओं के बयानबाजी को लेकर चारो ओर से घिरी हुई है. वहीं हरियाणा सरकार में मंत्री के मंत्री रणजीत चौटाला ने कहा है कि दंगे तो होते रहते हैं, पहले होते रहे हैं, ऐसा नहीं है...

दिल्ली हिंसा पर हरियाणा सरकार के मंत्री रणजीत चौटाला का अजीब बयान- दंगे तो होते रहते हैं, ज़िन्दगी का हिस्सा हैं

हरियाणा सरकार में मंत्री हैं रणजीत चौटाला

नई दिल्ली:

दिल्ली में हुई हिंसा के बीच जहां बीजेपी अपने नेताओं के बयानबाजी को लेकर चारो ओर से घिरी हुई है. वहीं हरियाणा सरकार में मंत्री के मंत्री रणजीत चौटाला ने कहा है कि दंगे तो होते रहते हैं, पहले होते रहे हैं, ऐसा नहीं है... जब इंदिरा गांधी की हत्या हुई, तो पूरी दिल्ली जलती रही.. ये तो जिंदगी का हिस्सा है... जो होते रहते हैं...उन्होंने आगे कहा कि सरकार इस मामले में मुस्तैदी से कंट्रोल रही है. यह दिल्ली का मामला है और ज्यूडीशियल मामला है इस पर कुछ नहीं चाहता हूं. गौरतलब है कि रणजीत चौटाला का बयान ऐसे समय में आया है जब दिल्ली में हुई हिंसा में अब तक 34 लोगों की मौत हो चुकी है और 200 से ज्यादा घायल हैं. दिल्ली के नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के जाफाराबाद, गोकुलपुरी, मौजपुर, सीलमपुर आदि इलाकों में हिंसा की ये घटनाएं हुई हैं.

वहीं आज दिल्ली हिंसा मामले में कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह सहित कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं ने राष्ट्रपति कोविंद को ज्ञापन सौंपकर विरोध दर्ज कराया है. राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपने के बाद सोनिया गांधी  ने कहा कि हमने नागरिकों के जीवन, आजादी और संपत्ति को सुरक्षित करने की मांग की है. इसके साथ ही यह भी मांग करते हैं कि गृहमंत्री को हिंसा काबू न कर पाने पर पद से तुरंत हटाया जाए.  वहीं पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने कहा,  'हमने राष्ट्रपति से अपील की है कि वह अपनी शक्ति का इस्तेमाल करके 'राजधर्म' की रक्षा करें. मनमोहन सिंह ने कहा कि राष्ट्रपति से मिलकर पिछले चार दिनों दिल्ली में जो कुछ भी हुआ उस पर चिंता जताई है और यह शर्म की बात है कि 34 लोगों की मौत और 200 लोग घायल हो गए हैं. ये बताता है कि सरकार किस तरह से असफल हो गई है. 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com