अखबारों की सुर्खियां : दिल्ली-एनसीआर समेत समूचा उत्तर भारत में महसूस किए भूकंप के झटके

अखबारों की सुर्खियां :  दिल्ली-एनसीआर समेत समूचा उत्तर भारत में महसूस किए भूकंप के झटके

नई दिल्ली:

दिल्ली से प्रकाशित सभी अखबारों में आज भूकंप की खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया है. सेबी-सहारा विवाद में सहारा को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा है.  कोर्ट ने सहारा की एंबी वैली को जब्त करने के आदेश दिए हैं. इस खबर को भी कई अखबारों ने सुर्खी बनाया है. सभी अखबारों ने सुप्रीम कोर्ट की उस रिपोर्ट को प्रमुखता से जगह दी है जिसमें कहा गया है कि दिल्ल्ली में प्रदूषण से हर रोज आठ लोग मरते हैं.

अमर उजाला ने बॉक्स में इसी खबर को पूरे पैकेज के साथ प्रकाशित किया है. दिल्‍ली-एनसीआर में सोमवार की रात 10:30 के आसपास भूकंप के हल्‍के झटके महसूस किए गए. दिल्‍ली में कुछ दफ्तरों में बैठे लोगों ने भी झटके महसूस किए. दिल्‍ली के अलावा उत्तराखंड और चंडीगढ़ में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए. राष्‍ट्रीय भूकंप ब्‍यूरो के अनुसार भूकंप की तीव्रता 5.8 थी. भूकंप का केंद्र उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग के पीपलकोटि को बताया जा रहा है. भूकंप जमीन के 33 किलोमीटर नीचे आया था और 7-10 सेकेंड तक झटके महसूस किए गए.
 

dainik bhaskar

उधर, दैनिक भास्कर ने सेबी-सहारा विवाद को लीड खबर के तौर पर प्रकाशित किया है. अखबार ने जस्टिस दीपक मिश्रा के बयानों का हवाला देते हुए लिखा है, "सुब्रत राय जब तक पैसा देंगे, बाहर रहेंगे, पर अब तो पूरे पैसे एकमुश्त ही चाहिए."

कोर्ट ने एंबी वैली को जब्त करने का आदेश दिया है. एंबी वैली 39 हजार करोड़ की संपत्ति है. एंबी वैली कोर्ट के पास अटैच रहेगी. कोर्ट ने सहारा से उन संपत्तियों की लिस्ट मांगी जिन पर विवाद नहीं है ताकि उनकी नीलामी हो सके. 20 फरवरी तक यह लिस्ट देने के आदेश दिए हैं.   
 

dainik jagran

वहीं, जागरण ने दिल्ली प्रदूषण को फ्रंट पेज पर लीड के रूप में प्रकाशित किया है जिसमें चलते हर रोज मरते हैं आठ लोग. उच्चतम न्यायालय ने कहा कि दिल्ली में प्रदूषण से संबंधित बीमारियों की वजह से औसतन रोजाना छह लोग मर रहे हैं और उसने केंद्र को राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में उच्च सांद्रता वाले सल्फर ईंधनों- फर्नेस आयल और पेटकोक के इस्तेमाल पर रोक लगाने पर विचार करने का निर्देश दिया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com