NDTV Khabar

आज के अखबारों की प्रमुख सुर्खियां : पाक ने जाधव को जासूस बता सुनाई मौत की सजा

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आज के अखबारों की प्रमुख सुर्खियां : पाक ने जाधव को जासूस बता सुनाई मौत की सजा

आज के अखबारों की प्रमुख सुर्खियां

नई दिल्ली:
टिप्पणियां

आज के दिल्ली से प्रकाशित लगभग सभी अखबारों ने पाकिस्तान ने जाधव को जासूस बता सुनाई मौत की सजा की खबर को प्रमुखता से छापा है. कुलभूषण सुधीर जाधव उर्फ हुसैन मुबारक पटेल को 3 मार्च, 2016 को बलूचिस्तान के माशकेल में पकड़ा गया था. सैन्य अदालत में उनके खिलाफ पाकिस्तान आर्मी एक्ट तथा ऑफिशियल सीक्रेट एक्ट के तहत केस चला. दोषी पाने पर कोर्ट ने मौत की सजा सुनाई. सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा ने सजा की पुष्टि कर दी है. जाधव ने मजिस्ट्रेट के समक्ष कबूला था कि पाकिस्तान को अस्थिर करने तथा उसके खिलाफ युद्ध छेड़ने के लिए रॉ ने उन्हें जासूसी तथा विध्वंसक गतिविधियों का जिम्मा सौंपा था. यह बलूचिस्तान तथा कराची में शांति बहाली की कोशिशें बाधित करने की साजिश थी. नियमों के अनुसार आरोपी को वकील भी दिया गया था.
 

newspaper

वहीं, भारत पहुंचे ऑस्ट्रेलियाई पीएम टर्नबुल की खबर को भी लगभग अखबारों ने प्रमुखता के साथ प्रकाशित किया है. ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री मैलकम टर्नबुल 2015 में पद संभालने के बाद पहली बार सोमवार को चार दिन की भारत यात्रा पर पहुंचे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उन्हें मेट्रो से अक्षरधाम मंदिर ले गए. इस दौरान टर्नबुल ने कई बार सेल्फी ली. अक्षरधाम मंदिर में दोनों ने स्वामी नारायण का अभिषेक किया. इससे पहले दोनों देशों के बीच छह समझौते हुए हैं.
 

jagran

दैनिक जागरण ने गाजियाबाद में एक हजार करोड़ की ठगी की खबर को प्रकाशित किया है. नोएडा की एब्लेज कंपनी की तर्ज पर वेबसाइट बनाकर एक सोशल ट्रेड कंपनी ने बीस हजार लोगों से तकरीबन एक हजार करोड़ की ठगी की. कंपनी के डायरेक्टर व अन्य स्टाफ ऑफिस बंद कर फरार हैं. कंपनी द्वारा क्लिक के जरिये भुगतान का झांसा देकर शिकार बनाए गए निवेशकों ने सोमवार को एसएसपी से शिकायत की. एसएसपी ने मामले की जांच का आश्वासन दिया है. पीड़ितों का कहना है कि कई शिकायतों पर भी कार्रवाई नहीं हुई. एसएसपी ऑफिस पहुंचे निवेशकों आकाश बंसल, अशोक अग्रवाल, गुरमीत, तरुण अग्रवाल आदि के अनुसार चिरंजीव विहार के रहने वाले कुछ लोगों ने दिसंबर 2016 को साहिबाबाद में पैसेफिक बिजनेस पार्क के बी-231 व 233 में पे-वे आइटी सोल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड के नाम से कंपनी खोली थी.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement