NDTV Khabar

सुर्खियां : तीन तलाक - मुस्लिम महिला-पुरुषों में टकराव का मसला, दलीलों के बाद अब जिरह

तीन तलाक पर संविधान पीठ में चल रही सुनवाई का गुरुवार को आखिरी दिन

3 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
सुर्खियां : तीन तलाक - मुस्लिम महिला-पुरुषों में टकराव का मसला, दलीलों के बाद अब जिरह
नई दिल्ली: तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट में पांचवे दिन दोनों पक्षों की दलीलें पूरी हो गई हैं. अब इस मामले पर जिरह होनी है. इस मामले को लेकर कोर्ट में एटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने कहा है कि यह मामला अल्पसंख्यक बनाम बहुसंख्यक नहीं है. यह मुस्लिम महिलाओं और पुरुषों के बीच टकराव का मसला है. यह समाचार आज सभी अखबारों में सर्वाधिक वरीयता के साथ प्रकाशित किया गया है.

तीन तलाक : क्या ना कह सकती हैं औरतें
तीन तलाक पर पांचवे दिन सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने पर्सनल लॉ बोर्ड से उक्त सवाल किया. इसकी खबर हिंदुस्तान की प्रमुख खबर है. अखबार ने लिखा है कि सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के पांचवे दिन बुधवार को पांच जजों की संविधान पीठ ने पर्सनल लॉ बोर्ड से सवाल किए कि क्या औरतें तीन तलाक को न कह सकती हैं.
 
 
कुरान में नहीं है तीन तलाक : सुप्रीम कोर्ट
जागरण में समाचार है - पर्सनल लॉ बोर्ड से संविधान पीठ ने पूछा, क्या महिलाएं नकार सकती हैं तीन तलाक. तीन तलाक पर सुनवाई के दौरान बुधवार को एक ऐसा वक्त आया, जब संविधान पीठ के पांचों न्यायाधीश कुरान खोलकर उसकी आयतें पढ़ने लगे. जमीयत उलमा ए हिन्द के वकील वी गिरी ने कहा कि कुरान में चैप्टर 2 की आयत संख्या 230 में एक बार में तीन तलाक की बात कही गई है. इस पर पांचों जजों ने सामने रखी कुरान पढ़नी शुरू कर दी. यह कुरान का अंग्रेजी अनुवाद था. कोर्ट ने संबंधित आयत पढ़ने के बाद वकील से कहा कि वह जो बात कह रहे हैं वह तो इसमें नहीं है. तीन तलाक पर संविधान पीठ में चल रही सुनवाई का गुरुवार को आखिरी दिन है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement