NDTV Khabar

सुर्खियां : दिल्ली शहर में किसके सिर पर होगा ताज, नक्सलियों को सबक सिखाने की तैयारी

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सुर्खियां : दिल्ली शहर में किसके सिर पर होगा ताज, नक्सलियों को सबक सिखाने की तैयारी
नई दिल्ली:
टिप्पणियां
राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के नगर निगम चुनाव का फैसला बुधवार को होना है. मतगणना के साथ चुनाव परिणाम घोषित हो जाएंगे. यह परिणाम जहां यह तय करेंगे कि बीजेपी का विजय रथ आगे जा रहा है या नहीं, वहीं यह भी तय करेंगे कि आम आदमी पार्टी का भविष्य किस ओर जा रहा है. दिल्ली में कांग्रेस के सियासी भविष्य की दिशा भी इस चुनाव का परिणाम तय करेगा. इस चुनाव के परिणामों पर देश भर की निगाहें टिकी हैं. इसके साथ मीडिया भी इस चुनाव पर नजरें जमाए है. अखबारों के बुधवार के अंकों में इससे संबंधित खबरें प्रमुखता से प्रकशित हुई हैं. उधर छत्तीसगढ़ में हुए बड़े नक्सली हमले ने केंद्र सरकार की नींद उड़ा दी है. सरकार अब नक्सलियों को सबक सिखाने की तैयारी कर रही है. इससे संबंधित खबरें करीब सभी समाचार पत्रों में प्रथम पृष्ठ पर हैं.   

नक्सलियों पर बड़ी कार्रवाई की तैयारी
हिंदुस्तान में समाचार है - छत्तीसगढ़ के सुकमा में 25 जवानों की शहादत के बाद केंद्र सरकार नक्सलियों को करारा जवाब देने की रणनीति बनाने में जुट गई है. उच्च पदस्थ अधिकारियों ने संकेत दिए हैं कि नक्सलियों के खिलाफ जल्द ही बड़ी कार्रवाई की जा सकती है. नक्सली हमले के बाद गृह मंत्रालय भी प्रधानमंत्री कार्यालय के साथ सक्रिय हो गया है.
 
jagran

किसके सर सजेगा ताज, फैसला आज
जागरण ने लिखा है - दिल्ली के तीनों नगर निगमों में सत्ता की चाबी किसके हाथ में होगी, यह बुधवार सुबह 11 बजते-बजते स्पष्ट हो जाएगा. निगमों में दस साल से सत्ता पर काबिज भाजपा को हैट्रिक बनाने का मौका मिलेगा या खोई हुई प्रतिष्ठा हासिल कर कांग्रेस पलटवार करेगी. या फिर दिल्ली की सत्ता के साथ-साथ निगम की सत्ता पर भी आम आदमी पार्टी राज करेगी, यह मतगणना शुरू होने के तीन घंटे के भीतर आईने की तरह साफ हो जाएगा. दक्षिणी, उत्तरी और पूर्वी दिल्ली नगर निगम के कुल 272 में से 27 वार्डों के लिए रविवार को हुए मतदान में 53.6 फीसद लोगों ने मताधिकार का प्रयोग किया था.
 
db

नक्सलियों से निपटने पर मंथन, राजनाथ बोले - जरूरत पड़ी तो बदलेंगे रणनीति
दैनिक भास्कर में समाचार है - नक्सलियों से निपटने की रणनीति पर केंद्र सरकार नए सिरे से मंथन करेगी. इसके लिए आठ मई को विभिन्न राज्यों के सीएम और अधिकारियों की संयुक्त बैठक बुलाई गई है. छत्तीसगढ़ के सुकमा में शहीद हुए 25 सीआरपीएफ जवानों को श्रद्धांजलि देने रायपुर पहुंचे गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने यह जानकारी दी. राजनाथ ने नक्सलियों के हमले को ठंडे दिमाग से सोचकर की गई हत्या बताया.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement