NDTV Khabar

वर्ष 2011 से दिल्ली में मार्च महीने का सबसे गर्म दिन दर्ज, विदर्भ झुलसा

76 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
वर्ष 2011 से दिल्ली में मार्च महीने का सबसे गर्म दिन दर्ज, विदर्भ झुलसा

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

नई दिल्‍ली: दिल्ली सहित अन्य राज्यों में शुक्रवार को झुलसाने वाली गर्मी महसूस की गयी जबकि 31 मार्च का दिन वर्ष 2011 से मार्च के महीने का सबसे गर्म दिन रहा, हालांकि देश के सबसे गर्म पांच स्थान महाराष्ट्र के विदर्भ क्षेत्र से रहे. भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के आंकड़े के मुताबिक, विदर्भ के चंद्रपुर में देश में सबसे अधिक 44.2 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया.

चंद्रपुर के अलावा वर्धा (43.8 डिग्री सेल्सियस), अकोला (43.6 डिग्री सेल्सियस), ब्रह्मपुर (43.3 डिग्री) और नागपुर (43.1 डिग्री) भारत में सर्वाधिक गर्म स्थान रहे. दिल्ली में सफदरजंग वेधशाला ने अधिकतम तापमान सामान्य से पांच डिग्री अधिक 38.6 डिग्री सेल्सियस बताया, जिसके चलते मार्च का आज का दिन वर्ष 2011 के बाद, सबसे गर्म दिन के तौर पर दर्ज किया गया. पालम में एक अन्य वेधशाला ने अधिकतम तापमान 40.2 डिग्री सेल्सियस दिखाया. यह तापमान भी पिछले सात वर्ष में सबसे अधिक है.

राजस्थान में चुरू सबसे गर्म स्थान रहा. चुरू में 43 डिग्री सेल्सियस तापमान जबकि कोटा में 41.3 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया. पिलानी, जैसलमेर और जयपुर में क्रमश: 40.6 डिग्री सेल्सियस, 40.5 डिग्री सेल्सियस और 39.9 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया. उत्तर प्रदेश में बांदा सबसे गर्म स्थान रहा, जहां अधिकतम तापमान 43.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. वाराणसी, फैजाबाद, झांसी जैसे कई अन्य जिलों में तापमान सामान्य से ऊपर दर्ज किया गया. पंजाब एवं हरियाणा में भी लोगों ने जबर्दस्त गर्मी महसूस की क्योंकि राज्यों के कई हिस्सों में तापमान कई डिग्री ऊपर चढ़ गया था.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement