ओवैसी बोले, ये हिंदू राष्ट्र नहीं है तो हिमंत बिस्वा सरमा ने किया पलटवार, बोले- फिर हिंदुओं की रक्षा...

Asaduddin Owaisi: ओवैसी ने लिखा,'किसी की मान्यता के आधार पर न तो उसे नागरिकता दी जानी चाहिए और न ही वापस ली जानी चाहिए.'

ओवैसी बोले, ये हिंदू राष्ट्र नहीं है तो हिमंत बिस्वा सरमा ने किया पलटवार, बोले-  फिर हिंदुओं की रक्षा...

एनआरसी के मसले पर ओवैसी और हिमंत बिस्वा सरमा के बीच नोंकझोंक देखने को मिली.

खास बातें

  • असम एनआरसी के मुद्दे पर दोनों नेताओं के बीच बहस
  • ओवैसी ने कहा, भारत कभी हिंदू राष्ट्र नहीं हो सकता
  • तो हिमंत बिस्वा सरमा ने किया पलटवार
नई दिल्ली :

असम में एनआरसी की अंतिम सूची को लेकर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) नेता असदुद्दीन ओवैसी और बीजेपी नेता हिमंत बिस्वा सरमा के बीच बीच ट्वीटर पर तीखी बहस देखने को मिली. दरअसल, असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने हिमंत बिस्वा सरमा का एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा कि, 'यह खुली स्वीकारोक्ति है कि किस तरह असम एनआरसी का इस्तेमाल मुस्लिमों को बाहर करने के लिए किया गया. पहले इस जटिल प्रक्रिया में बगैर दस्तावेजी सबूतों के लोगों को शामिल करने के बाद अब हिमंत बिस्वा सरमा कह रहे हैं कि किसी भी कीमत पर हिंदुओं की रक्षा की जाएगी.'  

ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने आगे लिखा, 'किसी की मान्यता के आधार पर न तो उसे नागरिकता दी जानी चाहिए और न ही वापस ली जानी चाहिए.' ओवैसी के इस ट्वीट पर पलटवार करते हुए सरमा ने लिखा, 'अगर भारत हिंदुओं की रक्षा नहीं करेगा तो कौन करेगा? पाकिस्तान? भारत हमेशा सताए हुए हिंदुओं का घर रहेगा, भले ही आप इसके विरोधी हों सर...' असदुद्दीन ओवैसी और हिमंत बिस्वा सरमा के बीच बातचीत यहीं नहीं रुकी. सरमा के इस ट्वीट के जवाब में ओवैसी ने दोबारा लिखा, 'भारत को सभी भारतीयों की रक्षा करनी चाहिए, न कि सिर्फ हिंदुओं की. जो लोग टू नेशन थ्योरी में विश्वास रखते हैं, वे कभी नहीं समझ सकते हैं कि ये देश किसी एक आस्था या मान्यता से बहुत बड़ा है.  

संविधान कहता है कि भारत सभी धर्म और जाति के लोगों को बराबरी का दर्जा देगा. ये हिंदू राष्ट्र नहीं है...और न ही कभी होगा...इंशाअल्लाह.' इसके बाद हिमंत बिस्वा सरमा ने ओवैसी पर फिर पलटवार करते हुए लिखा, 'सर...भारत एक सभ्यता है, देश नहीं. किसी भी देश का इतिहास संविधान के साथ शुरू होता है, लेकिन सभ्यता का इतिहास तमाम चीजों से शुरू होता है. इंडिया, जो कि भारत है...वह हमेशा एक जीवंत सभ्यता थी और रहेगी. हिंदुओं की बात करें तो इंडिया 5000 सालों से अधिक समय से हमारा घर रहा है.'  

बीजेपी नेता हिमंत बिस्वा ने NRC लिस्ट को बताया 'दोषपूर्ण', कहा- लड़ाई अभी खत्म नहीं हुई है

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

 उल्लेखनीय है कि असम में बहुप्रतीक्षित एनआरसी की अंतिम सूची शनिवार को ऑनलाइन जारी कर दी गई. एनआरसी में शामिल होने के लिए 3,30,27,661 लोगों ने आवेदन दिया था. इनमें से 3,11,21,004 लोगों को शामिल किया गया है और 19,06,657 लोगों को बाहर कर दिया गया है.  

वीडियो: असम में NRC लिस्ट हुई जारी, 3.11 करोड़ लोगों के नाम शामिल