NDTV Khabar

पूर्वोत्तर भारत में हो रही है आफत की बारिश, किसानों को भारी नुकसान

713 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
पूर्वोत्तर भारत में हो रही है आफत की बारिश, किसानों को भारी नुकसान

मणिपुर में कई दिनों से तेज बारिश हो रही है, यहां बारिश ने कई सालों का रिकॉर्ड तोड़ दिया है (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. इंफाल में बीते 20 सालों की सबसे ज्यादा बारिश दर्ज की गई
  2. मूसलाधार बारिश और ओलावृष्टि होने से किसानों को नुकसान
  3. उत्तर भारत में भीषण गर्मी तो पूर्वोत्तर में बारिश बनी आफत
इंफाल: इन दिनों जहां समूचा उत्तर और दक्षिणी भारत भीषण गर्मी से जूझ रहा है, वहीं पूर्वोत्तर के कुछ राज्यों में पिछले चार दिनों से मूसलाधार बारिश और ओलावृष्टि होने से किसानों की मुश्किलें बढ़ गई हैं. बारिश की वजह से फसलें नष्ट हुई हैं, जिससे किसानों को भारी नुकसान हुआ है.

मणिपुर में किसान मानसून पूर्व बारिश से बुरी तरह प्रभावित हुए हैं. पूर्वोत्तर राज्यों में ओलावृष्टि से बड़े पैमाने पर गोभी, हरी पत्तेदार सब्जियों और दूसरी फसलों को नुकसान पहुंचा है. भारी बारिश के कारण पिछले दिनों यहां दो लोगों की मौत भी हो चुकी है. दो दिन पहले इंफाल में बीते 20 सालों की सबसे ज्यादा बारिश दर्ज की गई.

मणिपुर के किसान बताते हैं कि इस बार बारिश से उनकी सब्जियों की फसल को काफी नुकासन हुआ है. बाजार के लिए तैयार सभी गोभियां ओले से नष्ट हो गई हैं. दूसरी सब्जियों को भी लगातार बारिश और ओलावृष्टि से नुकसान पहुंचा है. इसमें आलू उगाने वाले किसान बुरी तरह प्रभावित हैं. जब यहां कोई नाकाबंदी या भूस्खलन नहीं रहता तो असम या मेघालय से लाया गया एक किलो आलू मणिपुर में 30 रुपये किलो बिकता है.

बाजारों में स्थानीय आलू के आने से इसकी कीमतों में कमी आ गई है. हालांकि, घाटी के जिलों में पानी लगने से बड़े क्षेत्र में आलू की फसल डूबी हुई है. इसी तरह की समस्या का सामना मिजोरम के कुम्हड़ा और मेघालय के अदरक की खेती करने वाले किसानों को भी करना पड़ा रहा है. असम में भी बीते कई दिनों से रुक रुक कर बारिश हो रही है.

उत्तर उत्तर भारत की बात करें तो दिल्ली समेत उत्तर प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, पंजाब के लोग भीषण गर्मी की मार झेल रहे हैं.

(इनपुट आईएएनएस से भी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement