NDTV Khabar

कर्नाटक- केरल और तमिलनाडु के कई हिस्सों में भारी बारिश ने बढ़ाई परेशानी, बाढ़ जैसे हालात, पढ़ें 10 बड़ी बातें 

कर्नाटक- केरल और तमिलनाडु के कई इलाकों में भारी बारिश ने एक बार फिर से बाढ़ जैसे हालात बना दिए हैं. भारी बारिश की वजह से कई नदियां उफान पर हैं. सबसे बुरा हाल उत्तरी कर्नाटक और चिकमगलुरु का है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कर्नाटक- केरल और तमिलनाडु के कई हिस्सों में भारी बारिश ने बढ़ाई परेशानी, बाढ़ जैसे हालात, पढ़ें 10 बड़ी बातें 

केरल-कर्नाटक और तमिलनाडु में भारी बारिश

नई दिल्ली: कर्नाटक- केरल और तमिलनाडु के कई इलाकों में भारी बारिश ने एक बार फिर से बाढ़ जैसे हालात बना दिए हैं. भारी बारिश की वजह से कई नदियां उफान पर हैं. सबसे बुरा हाल उत्तरी कर्नाटक और चिकमगलुरु का है. मिली जानकारी के अनुसार बीते कुछ दिनों में उत्तरी कर्नाटक में भारी बारिश ने तबाही मचाई हुई है. इस वजह से कई नदियां, छोटी नदियां और नाले उफान पर हैं, जिससे इस साल अगस्त में आई बाढ़ की यादें ताज़ा हो गई हैं. राज्य के कई प्रभावित जिलों में पानी निचले इलाकों में स्थित घरों और स्कूलों बैंकों समेत सरकारी इमारतों में घुस गया है. बेलगावी दो महीने पहले आई बाढ़ से अब तक उभर भी नहीं पाया था कि एक बार फिर भारी बारिश यहां कहर बनके आई है. मौसम विभाग ने बताया कि बेलगावी में रविवार शाम से सोमवार सुबह तक 58.1 मिमि बारिश दर्ज की गई है. बेलगावी शाहपुर उपनगर में तीन घर ढह गए. वहीं, गांवों को जोड़ने वाली कई सड़कें पानी में डूब गई हैं जिस वजह से यातायात बाधित हो गया है. राष्ट्रीय राजमार्ग चार रविवार रात को बंद दिया गया था. इस वजह से कई गाड़ियां बीच में ही फंस गई हैं. कर्नाटक राष्ट्रीय प्राकृतिक आपदा निगरानी केंद्र के निदेशक जीएस श्रीनिवास रेड्डी ने बताया कि अगले दो-तीन दिनों में कृष्णा और उसकी सहायक नदियों में बारिश का पानी तेजी से बढ़ सकता है. वहीं, केरल के सात जिलों में भारी बारिश की चेतावनी के साथ ‘रेड अलर्ट’ जारी किया गया है. दक्षिणी राज्य के अलग-अलग स्थानों पर अत्यंत भारी बारिश का अनुमान जताया गया है. केरल राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अनुसार सोमवार को तिरुवनंतपुरम, अलप्पुझा, कोट्टायम, एर्नाकुलम, इडुक्की, त्रिशूर और पलक्कड़ में में रेड अलर्ट जारी किया गया है, जबकि चार जिलों में मंगलवार को जारी किया जाएगा.  मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने लोगों से सतर्क रहने को कहा है. रेड अलर्ट जारी होने के बाद जल्द प्रभावित होने वाले क्षेत्रों से लोगों को निकालकर शिविरों में ले जाया जाता है और लोगों को आपातकालीन किट उपलब्ध कराने समेत कई एहतियाती कदम उठाए जाते हैं. 
10 बड़ी बातें
  1. एकाएक हुई तेज बारिश की वजह से कर्नाटक के कई जिलों में बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं. सरकार की तरफ से लोगों तक हर संभव मदद पहुंचाने की कोशिश की जा रही है. 
  2. कर्नाटक में भारी बारिश से सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में बेलागवी, बागलकोटे, विजयपुरा, चिकमगलुरु जैसे जिले शामिल हैं.
  3. कर्नाटक सरकार ने अगले कुछ दिनों में भारी बारिश की चेतावनी को ध्यान में रखते हुए सभी लोगों से सतर्क रहने को कहा है.
  4. मौसम विभाग के अधिकारी के अनुसार 22 और 23 अक्टूबर को कर्नाटक के कई जिलों में भारी से भारी बारिश हो सकती है. 
  5. केरल के कोच्चि और आस-पास के क्षेत्रों में सुबह के समय भारी बारिश हुई, जिससे जगह-जगह जलभराव हो गया, जिससे मतदान प्रभावित हुआ.
  6. एर्नाकुलम में रेल पटरियों पर जलभराव के कारण दक्षिणी रेलवे ने सोमवार की एर्नाकुलम-केएसआर बेंगलुरु एक्सप्रेस और कन्नूर-एर्नाकुलम इंटरसिटी एक्सप्रेस और मंगलवार को चलने वाली बेंगलुरु-एर्नाकुलम एक्सप्रेस को रद्द कर दिया.
  7. तमिलनाडु के भी कई जिलों में बीते कुछ घंटों से भारी बारिश हो रही है. मौसम विभाग के अनुसार राज्य के कई जिलों में अगले कुछ दिनों तक भारी बारिश हो सकती है. 
  8. तीनों राज्यों की सरकारों ने प्रभावित जिलों में रहने वाले लोगों से अलर्ट रहने की अपील की है. 
  9. प्रभावित इलाकों में मदद पहुंचाने के लिए एनडीआरएफ और अन्य एजेंसियों की मदद ली जा रही है. 
  10. भारी बारिश का असर यातायात पर भी पड़ा है. कई जगहों पर एयरपोर्ट से उड़ाने प्रभावित हुई हैं तो कई जगह पर रेल का परिचालन रोका गया है. 
     


(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
टिप्पणियां

Advertisement