NDTV Khabar

गरीबी से मुकाबले के लिए जरूरी है ऊंची आर्थिक वृद्धि, मजबूत नागरिक समूह : अरुण जेटली

मुंबई में जमनालाल बजाज पुरस्कार समारोह में जेटली ने कहा, ‘आप गरीबी से कैसे लड़ेंगे? मेरे​ विचार में गरीबी से लड़ने के लिए पहला तत्व यह है कि समाज के पास इससे लड़ने के लिए संसाधन हों.’

25 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
गरीबी से मुकाबले के लिए जरूरी है ऊंची आर्थिक वृद्धि, मजबूत नागरिक समूह : अरुण जेटली

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली (फाइल फोटो)

मुंबई: वित्त मंत्री अरुण जेटली ने शनिवार को कहा कि देश से गरीबी दूर करने के लिए ऊंची आर्थिक वृद्धि व गतिशील नागरिक समूहों का होना जरूरी है. मुंबई में जमनालाल बजाज पुरस्कार समारोह में जेटली ने कहा, ‘आप गरीबी से कैसे लड़ेंगे? मेरे​ विचार में गरीबी से लड़ने के लिए पहला तत्व यह है कि समाज के पास इससे लड़ने के लिए संसाधन हों.’ उन्होंने कहा, ‘आपको वृद्धि के उच्च स्तर की जरूरत है. वृद्धि से संसाधन आते हैं. उच्च वृद्धि लाने वाली नीति बहुत जरूरी है. लेकिन क्या सिर्फ वृद्धि से ही गरीबी मिट जाएगी? जवाब है नहीं.’

उन्होंने कहा कि आर्थिक वृद्धि से तो केवल वे संसाधन ही आएंगे जिनकी गरीबी उन्मूलन के लक्ष्य के लिए जरूरत है. मंत्री ने कहा - आपको गरीबों की दुर्दशा को रेखांकित करने वाले, उनकी आवाज उठाने वाले सक्रिय नागरिक-संगठनों की जरूरत होगी. मंत्री ने कहा कि इस दिशा में तथा देश को और बेहतर स्थल बनाने के लिए सभी को ​काम करना होगा. इस अवसर उन्होंने विभिन्न समूहों को पुरस्कार प्रदान किए.

टिप्पणियां
उन्होंने जमनालाल बजाज के स्वाधीनता आंदोलन से जुड़े काम व योगदान को भी याद किया. उन्होंने कहा कि कुछ उद्योगपतियों के राजनीति में आने के परिणाम ‘मिला जुला’ रहा है तथा सरकार व उद्योग के ​बीच रिश्तों को पारदर्शी बनाए जाने के प्रयास किए जाने चाहिए. कार्यक्रम को उद्योगपति राहुल बजाज ने भी संबोधित किया.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement