NDTV Khabar

JNU गतिरोध: कैंपस में आज छात्रों से मिलेगी उच्च स्तरीय समिति

बुधवार को दो अलग मीटिंग में इस कमिटी की मुलाक़ात जेएनयू के 60 से ज़्यादा छात्रों से हो चुकी है जिसमें छात्र संघ के 4 प्रतिनिधि के अलावा अलग-अलग स्कूल के 40 से ज़्यादा काउंसलर्स और 18 होस्टल प्रेसिडेंट्स शामिल थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
JNU गतिरोध: कैंपस में आज छात्रों से मिलेगी उच्च स्तरीय समिति

बेतहाशा फीस वृद्धि के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं JNU के छात्र

खास बातें

  1. मानव संसाधन विकास मंत्रालय की तीन सदस्यीय उच्च स्तरीय समिति का किया गठन
  2. शाम 4 बजे एडमिनिस्ट्रेशन ब्लॉक में होगी मुलाकात
  3. JNU टीचर्स एसोसिएशन के सदस्यों से भी मिल चुकी है समिति
नई दिल्ली:

देश के सबसे प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय जवाहर लाल नेहरू (JNU) में बरकरार गतिरोध को खत्म करने को लेकर मानव संसाधन विकास मंत्रालय की तीन सदस्यीय उच्च स्तरीय समिति शुक्रवार को कैंपस में छात्रों से मिलेगी. यह मुलाक़ात शाम 4 बजे एडमिनिस्ट्रेशन ब्लॉक में होगी. इससे पहले गुरुवार को यह कमिटी शास्त्री भवन के मंत्रालय के दफ्तर में JNU टीचर्स एसोसिएशन के सदस्यों से भी मिली. बता दें, बुधवार को दो अलग मीटिंग में इस समिति की मुलाक़ात जेएनयू के 60 से ज़्यादा छात्रों से हो चुकी है जिसमें छात्र संघ के 4 प्रतिनिधि के अलावा अलग-अलग स्कूल के 40 से ज़्यादा काउंसलर्स और 18 होस्टल प्रेसिडेंट्स शामिल थे.

JNU में होस्टल की बढ़ी फीस छात्रों पर आर्थिक बोझ नहीं, 71 फीसदी को मिलता है अनुदान

हालांकि इन मुलाकातों के सिलसिले की कड़ी की शुरुआत मंगलवार को JNU के सभी स्कूल के डीन्स से हुई. बता दें, JNU में 25 दिनों से गतिरोध बरकरार है. छात्र जब इसी सोमवार को सड़कों पर निकले तो मामला सुलझाने को लेकर मंत्रालय ने इस समिति के गठन का ऐलान किया. समिति में यूजीसी के पूर्व चेयरमैन प्रो वी एस चौहान, AICTE के चेयरमैन प्रो अनिल सहस्त्रबुद्धे और यूजीसी के सेक्रेटरी प्रो रजनीश जैन शामिल हैं.


टिप्पणियां

VIDEO: जेएनयू विवाद: दुनिया के प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय हमारे विश्वविद्यालयों से कितने अलग?



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement