NDTV Khabar

अखबारों में आज : फिर से छाया ट्रिपल तलाक, पर्सनल लॉ बोर्ड ने दी दखलंदाजी न करने की चेतावनी

1.1K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
अखबारों में आज : फिर से छाया ट्रिपल तलाक, पर्सनल लॉ बोर्ड ने दी दखलंदाजी न करने की चेतावनी
नई दिल्ली: आज के हिंदी के प्रमुख अखबारों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस बयान को अपने पहले पन्ने की सुर्खी बनाया है जिसमें उन्होंने तीन तलाक पर मुस्लिम महिलाओं की तरफदारी करते हुए कहा है कि मुस्लिम बहनों को न्याय मिलना चाहिए. दैनिक भास्कर ने लिखा है- मोदी बोले-मुस्लिम बहनें तकलीफ में, न्याय मिलना चाहिए; कहां है अवॉर्ड वापसी वाले.
पत्र ख़बर के विस्तार में लिखता है कि भुवनेश्वर में बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि तीन तलाक पर मु्स्लिम समुदाय में विवाद नहीं होना चाहिए. अमर उजाला, दैनिक जागरण आदि पत्रों ने भी इसे विभिन्न शीर्षकों से पहले पन्ने पर जगह दी है. पत्रों ने मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड को भी इसी ख़बर के साथ जगह दी है जिसमें बोर्ड ने बेवजह तलाक का कड़ा विरोध किया है. साथ ही बोर्ड ने यह भी साफ कर दिया है कि वह तीन तलाक पर किसी का दखल बर्दाश्त नहीं करेगा.
newspaper


एक अन्य रोचक ख़बर को भास्कर ने पहले पन्ने पर जगह दी है जिसमें सेना के जवानों की पत्नियों को एक ख़ास सलाह दी गई है. पति को दूसरी शादी न करने दें, वेतन और छुट्टी पर नज़र रखें, शीर्षक वाली ख़बर में लिखा गया है कि इंडो-तिब्बतन बॉर्डर पुलिस ने अपने जवानों की पत्नियों के लिए एक बुकलेट जारी की है. इसमें जवानों की पत्नियों को अनोखी सलाह देते हुए कहा गया है कि वे पति को दूसरी शादी की इजाजत न दें. ऐसा करने से उनकी नौकरी जा सकती है. जवानों को सख्त निर्देश हैं कि इस बुकलेट को अपनी पत्नी को जरूर दें.
 
newspaper

नवोदय टाइम्स ने नितिन गडकरी के उस बयान को अपने पहले पन्ने पर जगह दी है जिसमें उन्होंने मुंबई में पोर्ट ट्रस्ट की बेकार पड़ी जमीन पर दुबई के बुर्ज खलीफा से भी ऊंची इमारत बनाने की बात कही है. बुर्ज खलीफा से बड़ी इमारत बनेगी मुंबईमें शीर्षक ख़बर में अख़वार लिखता है कि केंद्रीय सड़क परिवहन तथा जहाजरानी मंत्री नितिन गडकरी ने अपनी इच्छा जाहिर करते हुए कहा कि वे मुंबई पोर्ट ट्रस्ट की खाली पड़ी जमीन को पर्यटन के हिसाब से विकसित करना चाहते हैं.

उत्तर कोरिया के मिसाइल टेस्ट के फेल होने की ख़बर को अमर उजाला ने पहले पन्ने की प्रमुख ख़बरों जगह देते हुए लिखा है, उत्तर कोरिया की सबसे ताकतवर मिसाइल टेस्ट में फेल. पेपर लिखता है कि उत्तर कोरिया ने रविवार को बैलिस्टिक मिसाइल का परिक्षण किया था, लेकिन लॉन्च पैड पर यह मिसाइल फट गई. इस घटना से एक दिन पहले ही उत्तर कोरिया ने अमेरिका को चेतावनी दी थी कि वह परमाणु हमले समेत सभी तरह के युद्धों का जवाब देने के लिए तैयार है.

इनके अलावा खेल, मनोरजंन, अर्थ जगत तथा देश-विदेश की ख़बरों को अखबरों ने अलग-अलग पन्नों पर जगह दी है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement