हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की लखनऊ में दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या

हिंदू महासभा के पूर्व नेता कमलेश तिवारी ने वर्ष 2017 जनवरी में ही हिंदू समाज पार्टी की स्थापना की थी. तिवारी इससे पहले हिंदू महासभा के अध्यक्ष रह चुके थे.

हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की लखनऊ में दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या

लखनऊ:

उत्तर प्रदेश में एक राजनीतिक संगठन हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की लखनऊ में उनके आवास पर ही शुक्रवार दोपहर गोली मारकर हत्‍या कर दी गई. प्रत्‍यक्षदर्शियों ने बताया कि दो लोग, जिनमें से एक ने भगवा गमछा लिया हुआ था, दिवाली की मिठाइयां देने के बहाने उनसे मिले. लेकिन जैसे ही वो लोग घर के अंदर गए, उन्‍होंने कथित रूप से कमलेश तिवारी का पहले तो गला काट दिया और फिर वहां से भागने से पहले उन्‍हें कई गोलियां भी मारीं. तिवारी को आनन-फानन में अस्‍पताल ले जाया गया जहां उन्‍हें मृत घोषित कर दिया गया. पुलिस ने मामले में अब तक कोई गिरफ्तारी नहीं की है लेकिन वारदात वाली जगह से एक पिस्‍तौल जरूर बरामद की है.

हिंदू महासभा के पूर्व नेता कमलेश तिवारी ने वर्ष 2017 जनवरी में ही हिंदू समाज पार्टी की स्थापना की थी. तिवारी इससे पहले हिंदू महासभा के अध्यक्ष रह चुके थे. उन्होंने पैगंबर मुहम्मद से जुड़ी अत्यधिक विवादास्पद टिप्पणी की थी, जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था और उन पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) लगाया गया था. हाल ही में इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ पीठ ने उनके खिलाफ एनएसए रद्द कर दिया था.

लखनऊ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी ने कहा कि हमलावरों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीमों का गठन किया गया है. नैथानी ने बताया कि कमलेश तिवारी से नाका के खुर्शीद बाग स्थित ऑफिस में दो लोग मिलने पहुंचे थे. ये दोनों मिठाई का डिब्बा लिए हुए थे, जिसमें चाकू और बंदूक थी. बताया जा रहा है कि दोनों ने कमलेश तिवारी से मुलाकात की. बातचीत के दौरान दोनों बदमाशों ने कमलेश के साथ चाय भी पी. इसके बाद उनकी हत्या करके फरार हो गए.

बदमाशों ने कमलेश तिवारी से मिलने से पहले उन्हें कॉल भी किया था. हालांकि, अभी यह स्पष्ट नहीं है कि दोनों अपराधी कमलेश के परिचित थे या नहीं. फिलहाल पुलिस सभी मामलों की जांच कर रही है. पुलिस ने मौके से एक रिवाल्वर भी बरामद किया है.

कमलेश तिवारी ने सीतापुर में अपनी पैतृक जमीन पर नाथूराम गोडसे का मंदिर बनाने का ऐलान किया था. राम जन्मभूमि मामले में वह सुप्रीम कोर्ट में कुछ दिनों तक हिन्दू महासभा की तरफ से पक्षकार भी रहे थे.

इस माह दक्षिणपंथी नेता की हुई यह चौथी हत्या है. इसके पहले देवबंद में आठ अक्टूबर को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता चौधरी यशपाल सिंह की भी इसी तरह से गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. बस्ती में 10 अक्टूबर को एक अन्य भाजपा नेता और पूर्व में छात्र नेता रहे कबीर तिवारी की भी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी, जिसके कारण छात्र गुटों में तोड़फोड़ हुई थी और सरकारी वाहनों को जला दिया गया था. भाजपा पार्षद धरा सिंह (47) को 13 अक्टूबर को शनिवार सुबह सहारनपुर के देवबंद में अज्ञात हमलावरों ने गोली मार दी थी. (इनपुट आईएएनएस से...)

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com