हिंदुजा समूह की प्रमुख कंपनी अशोक लीलैंड ने BS-6 मानकों वाला ट्रक पेश किया

कंपनी का नया मोड्यूलर ट्रक एवीटीआर ब्रांड नाम से आया है. यह अपनी तरह का दश में पहला वाणिज्यिक वाहन है जो ग्राहकों को लदान, ‘केबिन ससपेन्सन’, ‘ड्राइवइवट्रेन’ आदि के बारे में कई विकल्प उपलब्ध कराता है.

हिंदुजा समूह की प्रमुख कंपनी अशोक लीलैंड ने BS-6 मानकों वाला ट्रक पेश किया

अशोक लीलैंड ने गुरुवार को भारत चरण-6 (बीएस-6) मानकों वाले मझोले और भारी ट्रक पेश किए.

खास बातें

  • भारत चरण-6 (बीएस-6) मानकों वाले मझोले और भारी ट्रक पेश किए
  • ये ट्रक अत्याधुनिक ‘मोड्यूलर प्लेटफार्म’ पर आधारित हैं.
  • कंपनी का नया मोड्यूलर ट्रक एवीटीआर ब्रांड नाम से आया है.
नई दिल्ली:

हिंदुजा समूह की प्रमुख कंपनी अशोक लीलैंड ने गुरुवार को भारत चरण-6 (बीएस-6) मानकों वाले मझोले और भारी ट्रक पेश किए. ये ट्रक अत्याधुनिक ‘मोड्यूलर प्लेटफार्म' पर आधारित हैं. कंपनी का नया मोड्यूलर ट्रक एवीटीआर ब्रांड नाम से आया है. यह अपनी तरह का दश में पहला वाणिज्यिक वाहन है जो ग्राहकों को लदान, ‘केबिन ससपेन्सन', ‘ड्राइवइवट्रेन' आदि के बारे में कई विकल्प उपलब्ध कराता है. ग्राहक 18.5 से 55 टन की श्रेणी में ट्रकों, टिपर और ट्रैक्टरों को अपनी जरूरत के हिसाब से उसमें बदलाव करा सकते हैं. अशोक लीलैंड के चेयरमैन धीरज हिंदुजा ने कहा, ‘एवीटीआर हमारे ग्राहकों को अलग अनुभव देगा और वे मोड्यूलर प्लेटफार्म का लाभ उठा पाएंगे. इस मोड्यूलर प्लेटफार्म से हम वाणिज्यिक वाहनों के मामले में वैश्विक मानचित्र पर आ गए हैं.'

उन्होंने वीडियो कॉल में कहा कि कंपनी ने नया प्लेटफॉर्म 500 करोड़ रुपये के निवेश से विकसित किया है. इससे कंपनी अंतरराष्ट्रीय बाजार में अपना विस्तार कर सकेगी. अशोक लीलैंड के प्रबंध निदेशक और सीईओ विपिन सोंधी ने कहा, ‘यह मोड्यूलर प्लेटफार्म हमें न केवल भारत में बल्कि वैश्विक स्तर पर लाभ देगा.

इस प्लेटफॉर्म पर तैयार वाहन में दाहिने तरफ और बायीं तरफ दोनों ओर से चलाने की सुविधा प्राप्त की जा सकती है. उन्होंने कहा कि कंपनी इन ट्रकों का अफ्रीकी और पश्चिम एशियाई देशों में निर्यात बढ़ाने पर गौर करेगी. साथ ही इसके जरिए स्वतंत्र देशों के राष्ट्रकुल (सीआईएस) में अपना पांव जमाने का प्रयास करेगी. 

कंपनी के मुख्य परिचालन अधिकारी अनुज कथुरिया ने कहा कि कंपनी एवीटीआर देश भर के अपने विभिन्न कारखानों में विनिर्माण करेगी. इसके लिए उसने जरूरी बदलाव किए हैं. कंपनी बिक्री और सेवा नेटवर्क बढ़ाने पर भी ध्यान दे रही है. उन्होंने कहा, ‘वर्ष 2010 में ऐसे केंद्रों की संख्या 450 थी जो अब 3,000 हो गई है. हमने हर 50 किलोमीटर पर ऐसा केंद्र बनाने की योजना बनाई है.' अशोक लीलैंड दुनिया में ट्रक बनाने वाली शीर्ष 10 कंपनियों और बस बनाने वाली 5 प्रमुख कंपनियों में शामिल है. 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com