NDTV Khabar

अमित शाह ने कहा- 2013 में हर मंत्री खुद को PM समझता था, लेकिन प्रधानमंत्री को प्रधानमंत्री...

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने मंगलवार को नई दिल्ली में AIMA का 46 वां राष्ट्रीय प्रबंधन सम्मेलन के दौरान अप्रत्यक्ष रूप से यूपीए सरकार पर निशाना साधा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अमित शाह ने कहा- 2013 में हर मंत्री खुद को PM समझता था, लेकिन प्रधानमंत्री को प्रधानमंत्री...

गृहमंत्री अमित शाह (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने मंगलवार को नई दिल्ली में AIMA का 46 वां राष्ट्रीय प्रबंधन सम्मेलन के दौरान अप्रत्यक्ष रूप से यूपीए सरकार पर निशाना साधा. इस दौरान उन्होंने कहा, "वर्ष 2013 में हर रोज़ भ्रष्टाचार की ख़बरें आया करती थीं, सीमाएं असुरक्षित थीं, हमारे सैनिकों के सिर काटे जा रहे थे, उन्हें अपमानित किया जा रहा था, हमारी महिलाएं असुरक्षित महसूस करती थीं, लोग सड़कों पर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे... एक सरकार चल रही थी, जिसमें हर मंत्री खुद को प्रधानमंत्री समझता था, लेकिन प्रधानमंत्री को प्रधानमंत्री नहीं समझता था..."

''पहली बार सरदार सरोवर बांध को पूरा भरा हुआ देखा, एक समय था जब...'', पढ़ें पीएम मोदी की 10 खास बातें

इस दौरान गृहमंत्री अमित शाह ने कहा, ''आज इत्तेफाक ही है कि जिस दिन मैं AIMA के 46वें राष्ट्रीय प्रबंधन सम्मेलन के कार्यक्रम में आया हूं उसी दिन पीएम नरेन्द्र मोदी जी का जन्मदिन है. सभी देशवासियों के लिए मोदी जी का जन्मदिन खास और शुभ इसलिए है कि उन्होंने जनता के मन में विश्वास जगाया है कि 21वीं सदी भारत की हो सकती है.'' उन्होंने आगे कहा, ''कोई सरकार 30 साल चलती है तो पांच बड़े फैसले ले पाती है, लेकिन मोदी जी की जो सरकार पांच साल चली इसने 50 से ज्यादा बड़े फैसले लेकर देश को परिवर्तित करने का काम किया है. एक निर्णायक सरकार देने का काम प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने किया है.''


मलेशियाई PM का दावा - PM मोदी ने जाकिर नाइक के प्रत्यर्पण के लिए कभी नहीं कहा

अमित शाह ने कहा, ''2013 का दृश्य मुझे याद है, भ्रष्टाचार चरम पर था, सीमाओं की सुरक्षा का कोई ठौर ठिकाना न था, आंतरिक सुरक्षा चरमाराई थी, महिलाओं की सुरक्षा ताक पर थी, प्रधानमंत्री को कोई प्रधानमंत्री मानता ही नहीं था, तब लोगों को लगता था कि देश किस दिशा में बढ़ रहा है. हमने कभी भी निर्णय लोगों को क्या अच्छा लगेगा ये सोचकर नहीं लिया, बल्कि लोगों के लिए क्या अच्छा है ये सोचकर हमने निर्णय लिये हैं. यही देश के परिवर्तन का आधार है''.

गृहमंत्री ने कहा, जब भी देश में सरकारें बनी तो 4 बड़े विवादों में घिरी रहीं-

सरकार गरीबों की है या अमीरों की
किसानों के लिए काम करने वाली है या उद्योगों के लिए
समाजवाद के सिद्धांत पर आगे बढ़ने वाली है या रिफॉर्म के आधार पर
मोदी जी ने इनको समाप्त कर समान विकास किया है

पीएम मोदी ने हेलिकॉप्टर से बनाया ‘स्टेच्यू ऑफ यूनिटी' का Video, ट्विटर पर शेयर कर लिखी ये बात

46वें राष्ट्रीय प्रबंधन सम्मेलन के कार्यक्रम में अमित शाह ने कहा, ''जब हम एयर स्ट्राइक और सर्जिकल स्ट्राइक जैसे फैसले लेते हैं तब कई सारी चीजें सामने होती हैं कि युद्ध होगा तब क्या होगा, गड़बड़ हो जाएगा तो क्या होगा. तब उस समय भी दृढ़ता के साथ देश की सुरक्षा के साथ एक इंच भी समझौता हम नहीं करेंगे ये दृढ़ निश्चय के साथ मोदी सरकार है. पहले दुनिया मानती थी कि देश की कोई रक्षा नीति नहीं है. जब सर्जिकल स्ट्राइक हुई तो दुनिया के लोगों ने कहा कि ये तो अचंभे में की गई कार्रवाई है, ये आपकी नीति नहीं है. जब एयर स्ट्राइक हुई तो दुनिया के लोगों ने कहा कि ये भारत की नीति है. पेरिस में ग्लोबल वार्मिंग और जलवायु परिवर्तन के सम्मेलन में जब सब विफल हो जाते हैं तब मंच से कहते हैं कि इसका रास्ता भारत दिखा सकता है. तब हमें गौरव होता है.''

टिप्पणियां

उन्होंने कहा, ''370 और 35A हटाने के बाद, सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक करने के बाद पूरी दुनिया लामबंद होकर चट्टान की तरह भारत के आत्मरक्षा के अधिकार को प्रमाणित करती है तब भी हमें बड़ा गौरव होता है कि भारत ने एक बड़ा मुकाम हासिल किया है. हम औद्योगिक विकास को गति देना चाहते हैं, आज स्टार्टअप्स के लिए हमारी सरकार ने जो किया है वो किसी ने नहीं किया है. हमने युवाओं को एक प्लेटफॉर्म देने का काम किया है.''

Video: केवड़िया में पीएम मोदी ने कहा- प्रकृति, प्रगति और पर्यावरण का संगम



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement