NDTV Khabar

जम्मू-कश्मीर के हालात को लेकर NSA अजित डोभाल और IB चीफ से मिले गृहमंत्री अमित शाह

जम्मू एवं कश्मीर के हालात पर गृहमंत्री, NSA तथा गृह सचिव के बीच बैठक हुई. बैठक में गृहमंत्री अमित शाह, NSA अजित डोभाल तथा गृह सचिव राजीव गाबा के अतिरिक्त वरिष्ठ खुफिया अधिकारी भी शामिल हुए. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जम्मू-कश्मीर के हालात को लेकर NSA अजित डोभाल और IB चीफ से मिले गृहमंत्री अमित शाह

तैनात सुरक्षाकर्मी.

खास बातें

  1. कश्मीर के हालात पर गृहमंत्री, NSA, गृह सचिव के बीच बैठक
  2. बैठक में वरिष्ठ खुफिया अधिकारी भी हुए शामिल
  3. कश्मीर में सोमवार को प्रतिबंधों में ढील मिलने पर खुले कई स्कूल
नई दिल्ली:

जम्मू एवं कश्मीर के हालात पर गृहमंत्री, NSA तथा गृह सचिव के बीच बैठक हुई. बैठक में गृहमंत्री अमित शाह, NSA अजित डोभाल तथा गृह सचिव राजीव गाबा के अतिरिक्त वरिष्ठ खुफिया अधिकारी भी शामिल हुए. बता दें, कश्मीर में सोमवार को प्रतिबंधों में और ढील दिए जाने पर कई स्कूलों में शिक्षक तो पढ़ाने पहुंचे लेकिन वहां ज्यादा छात्र नहीं दिखे. अधिकारियों ने बताया कि सरकार ने श्रीनगर में 190 प्राथमिक स्कूलों को खोलने के लिए सभी आवश्यक प्रबंध किए हैं जबकि घाटी के अधिकतर हिस्सों में सुरक्षा बल अब भी तैनात हैं. सभी निजी स्कूल आज सोमवार को लगातार 15वें दिन भी बंद रहे क्योंकि पिछले दो दिन से यहां हुए हिंसक प्रदर्शनों के मद्देनजर अभिभावक सुरक्षा स्थिति को लेकर आशंकित हैं.

पूर्व सैन्य अधिकारियों और नौकरशाहों ने आर्टिकल 370 पर सरकार के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में दी चुनौती


कश्मीर घाटी से लौटने के बाद डोभाल की अमित शाह के साथ यह पहली बैठक है. वह घाटी में दस दिनों तक रुके थे और वहां उन्होंने हालात पर व्यक्तिगत रूप से नजर रखा था. एक अधिकारी ने बताया कि एनएसए ने गृहमंत्री को जम्मू कश्मीर की संपूर्ण स्थिति के बारे में बताया. इस बैठक में राज्य में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए उठाए गए कदमों की समीक्षा की गई. अधिकारी के अनुसार जम्मू-कश्मीर के विभिन्न हिस्सों में लगाई गयी पाबंदियों से जुड़े मुद्दों पर भी बैठक में चर्चा हुई.

बता दें कि इससे पहले जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को समाप्त करने तथा राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेश में बांटने से पहले चार अगस्त को मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को पूरी तरह बंद कर दिया गया था. सरकार की ओर से यह कदम उठाये जाने से कुछ घंटे पहले पूरे प्रदेश में कर्फ्यू जैसे प्रतिबंध लागू कर दिये गए थे. हालांकि, प्रतिबंधों में बाद में ढील दी गई थी . पांच जिलों में 2 जी मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को फिर से शुरू करने के तुरंत बाद, जम्मू के पुलिस महानिरीक्षक मुकेश सिंह ने सोशल मीडिया पर फर्जी संदेश या वीडियो प्रसारित करने वाले किसी भी व्यक्ति के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी थी. 

जम्मू में दो कांग्रेस नेताओं की हुई गिरफ्तारी तो भड़के राहुल गांधी, किया यह Tweet...

मालूम हो कि जम्मू में रविवार को पांच जिलों में कम गति की 2जी मोबाइल इंटरनेट सेवाएं अस्थायी रूप से बंद कर दी गई है. एक दिन पहले ही इन सेवाओं को बहाल किया गया था. अधिकारियों ने लोगों को अफवाहों के प्रति आगाह करते हुए कहा कि क्षेत्र में हालात शांतिपूर्ण हैं. जम्मू के पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) मुकेश सिंह ने कहा कि तकनीकी कारणों से 2जी सेवाएं अस्थायी रूप से बंद कर दी गईं और तकनीकी खामियों का पता लगाया जा रहा है व जल्द से जल्द सेवाओं की बहाली सुनिश्चित करने के प्रयास किये जा रहे हैं. इससे पहले एक पुलिस अधिकारी ने कहा था कि अफवाहों को फैलने से रोकने और शांति बनाए रखने के लिए यह फैसला लिया गया. 

जम्मू-कश्मीर के 2400 छात्रों को सुप्रीम कोर्ट से मिली राहत 

टिप्पणियां

VIDEO: घाटी से धीरे-धीरे हट रही है पाबंदियां.  



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement