NDTV Khabar

गौरी लंकेश के हत्‍यारों को कुछ हफ्तों में जरूर पकड़ लिया जाएगा: कर्नाटक के गृह मंत्री

कर्नाटक के गृहमंत्री रामलिंगा रेड्डी ने कहा कि गौरी के हत्यारों को सौ फीसदी पकड़ लिया जाएगा. यह कुछ हफ्तों में होगा. हालांकि उन्होंने स्पष्ट किया कि इसका मतलब एक या दो हफ्ता नहीं है. यह कुछ हफ्तों में होगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गौरी लंकेश के हत्‍यारों को कुछ हफ्तों में जरूर पकड़ लिया जाएगा: कर्नाटक के गृह मंत्री

गौरी लंकेश की फाइल तस्वीर

खास बातें

  1. हत्‍यारों को कुछ हफ्तों में 100 फीसदी पकड़ लिया जाएगा: कर्नाटक के मंत्री
  2. मंत्री ने कहा, इसका मतलब एक या दो हफ्ता नहीं है. यह कुछ हफ्तों में होगा.
  3. यह किसने किया अभी इसका खुलासा नहीं कर सकता: मंत्री
बेंगलुरू: कर्नाटक के गृहमंत्री रामलिंगा रेड्डी ने कहा कि वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश के हत्यारों को कुछ हफ्तों में निश्चित रूप से पकड़ लिया जाएगा. रेड्डी ने कहा,‘‘गौरी के हत्यारों को सौ फीसदी पकड़ लिया जाएगा. यह कुछ हफ्तों में होगा. हालांकि उन्होंने स्पष्ट किया कि इसका मतलब एक या दो हफ्ता नहीं है. यह कुछ हफ्तों में होगा.’’ आपको बता दें कि गौरी की बेंगलुरु में दो महीने पहले हत्या कर दी गई थी.

टिप्पणियां
यह भी पढ़ें : गौरी लंकेश हत्याकांड : बेंगलुरु पुलिस ने बाइक पर सवार संदिग्ध हत्यारे की तस्वीर जारी की

रेड्डी ने कहा कि हत्या की जांच कर रही विशेष जांच टीम (एसआईटी) के पास हमलावरों के खिलाफ सबूत हैं, लेकिन अभी उनका खुलासा नहीं किया जा सकता. उन्होंने प्रेस क्लब ऑफ बेंगलुरू और बेंगलुरू रिपोर्टर गिल्ड द्वारा आयोजित एक प्रेस सम्मेलन में कहा,‘‘यह किसने किया एसआईटी द्वारा मुहैया की गई जानकारी को लेकर मैं इस बात से वाकिफ हूं, लेकिन अभी इसका खुलासा नहीं कर सकता।’’ 

VIDEO : गौरी लंकेश की हत्या के बाद सोशल मीडिया पर नफरत और झूठ का खेल

पुलिस ने गौरी लंकेश की हत्‍या के मामले में 17 अक्‍टूबर को बाइक सवार एक संदिग्ध हत्यारे की तस्वीर जारी की थी. एसआईटी ने सीसीटीवी फुटेज को अमेरिका की एक लैब की मदद से अधिकतम स्तर तक बड़ा कर यह तस्वीर जारी की थी. यह फुटेज पत्रकार के घर के पास लगे सीसीटीवी कैमरे से हासिल हुआ था. एसआईटी ने इससे पहले दो संदिग्धों के स्केच और सीसीटीवी फुटेज जारी किए थे. गौरी लंकेश की 5 सितंबर को हत्या कर दी गई थी. 21-सदस्यीय एसआईटी ने जो स्केच जारी किए थे, वे चश्मदीदों से मिली जानकारी तथा सीसीटीवी फुटेज के आधार पर तैयार किए गए थे.
(इनपुट : भाषा)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement