NDTV Khabar

गृह मंत्रालय ने CAPF को कैंटीन और कार्यालय में 'स्वदेशी' सामान अपनाने का दिया निर्देश

गृह मंत्रालय ने देश भर में 1700 से अधिक केंद्रीय पुलिस कैंटीन के लिए आर्थिक सहयोग बढ़ाने का भी निर्णय किया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गृह मंत्रालय ने CAPF को कैंटीन और कार्यालय में 'स्वदेशी' सामान अपनाने का दिया निर्देश

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  1. कैंटीन और कार्यालयों में विदेशी ब्रांड का त्याग कर ‘स्वदेशी’ सामान अपनाए
  2. इसमें खाद्य सामग्री से लेकर, घर के सामान और कपड़े तक है शामिल
  3. वर्तमान सामान को स्वदेशी सामान से बदल दिया जाना चाहिए
नई दिल्ली:

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सभी CAPF या अर्द्धसैनिक बलों को निर्देश दिया है कि वे अपने कैंटीन और कार्यालयों में विदेशी ब्रांड का त्याग कर ‘स्वदेशी' सामान अपनाएं. इसमें खाद्य सामग्री से लेकर, घर के सामान और कपड़े तक शामिल करने के लिए कहा गया है. गृह मंत्रालय ने देश भर में 1700 से अधिक केंद्रीय पुलिस कैंटीन के लिए आर्थिक सहयोग बढ़ाने का भी निर्णय किया है. साथ ही मंत्रालय ने इन बलों और अर्द्धसैनिक बल की इस मांग को ठुकरा दिया है, जिसमें इन स्टोर के लिए वस्तु एवं सेवा कर (GST) में छूट की मांग की गई है.

केंद्रीय सुरक्षाबल कर्मियों को तोहफा, सभी के लिए रिटायरमेंट की उम्र 60 साल की गई

मंत्रालय की तरफ से जारी एक सरकारी आदेश में कहा गया है कि इन कैंटीन में ‘स्वदेशी' सामान उपलब्ध कराया जाना चाहिए, जिनमें खाद्य सामग्री, कपड़े आदि शामिल हों. आदेश में कहा गया है कि इन स्टोर में नई खरीद ‘स्वदेशी' सामानों की होनी चाहिए और वर्तमान सामान को स्वदेशी सामान से बदल दिया जाना चाहिए.


अब सोशल मीडिया नहीं, ऐप के जरिये गृह मंत्री तक अपनी समस्याएं पहुंचा सकेंगे जवान...

टिप्पणियां

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘इस आदेश का उद्देश्य इन सामानों के स्थानीय उत्पादकों की आय में सुधार लाना और स्थिति को बेहतर करना है. यह स्वदेशी उत्पादों और उद्योग को बढ़ावा देने के लिए है. इन बलों में वर्तमान में करीब 10 लाख कर्मी हैं और प्रति वर्ष वे कैंटीन के लिए करोड़ों रुपये के सामान खरीदते हैं.' अधिकारी ने कहा कि मंत्रालय ने यह भी निर्देश दिया है कि CPC के लिए GST में छूट के बजाए केंद्र सरकार ‘बजट सहायता के मार्फत CPC की क्षतिपूर्ति करेगा.' 

VIDEO: रवीश कुमार का प्राइम टाइम: पेंशन की पुरानी व्यवस्था का लाभ नहीं मिलेगा



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement