NDTV Khabar

तमिलनाडु: ISIS के लिए फंड जुटाने के आरोप झेल रहे लोगों के घर NIA ने की छापेमारी

अभी तक मिली जानकारी के अनुसार NIA चेन्नई, तिरुनेवेली, मदुरई, थेनी और रामानाथनपुरम समेत कुछ अन्य जगहों पर भी छापेमारी कर रही है. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
तमिलनाडु: ISIS के लिए फंड जुटाने के आरोप झेल रहे लोगों के घर NIA ने की छापेमारी

तमिलनाडु के कई ठिकानों पर एनआईए की छापेमारी

चेन्नई:

एनआईए (NIA) तमिलनाडु के उन 14 लोगों के घरों पर छापेमारी कर रहा है जिनपर ISIS के लिए फंड जुटाने का आरोप है. इन सभी 14 लोगों को भारत ने यूएई में गिरफ्तार किया था. इन सभी पर वहां रहते हुए ISIS के लिए फंड जुटाने का आरोप है. अभी तक मिली जानकारी के अनुसार NIA चेन्नई, तिरुनेवेली, मदुरई, थेनी और रामानाथनपुरम समेत कुछ अन्य जगहों पर भी छापेमारी कर रही है. बता दें कि ये सभी लोग यूएई की जेल में छह महीने से थे. इसके बाद ही इन्हें भारत के हवाले किया गया. इन्हें पिछले सप्ताह ही भारत लाया गया. जहां से पुलिस ने सभी को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया  गया. कोर्ट ने इन सभी को 26 जुलाई तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. पुलिस के अनुसार इन सभी आरोपियों पर अलकायदा का भी समर्थन करने का आरोप है. पुलिस आरोपियों से पूछताछ के आधार पर आरोपियों के अन्य साथियों का पता लगाने में जुटी है.

ISIS के नए मॉड्यूल को लेकर रेड: NIA ने यूपी और पंजाब में आठ ठिकानों पर मारे छापे


गौरतलब है कि एनआईए द्वारा की जा रही है यह कोई पहली छापेमारी नहीं है. इससे पहले NIA ने केरल में तीन जगहों पर छापेमारी की थी. छापेमारी के बाद तीन संदिग्धों को हिरासत में लिया गया था. तीनों से पूछताछ जारी है. NIA की टीम ने कासरगोड में 2 जगह और पलक्कड के एक मकान में छापेमारी की थी. छापेमारी के दौरान कई सिम कार्ड, मोबाइल फ़ोन, डायरियां, पेन ड्राइव, सीडी, डीवीडी और ज़ाकिर नाइक से जुड़ी कुछ धार्मिक किताबें बरामद हुई थी. केरल के कुछ युवा कुछ समय पहले आतंकी संगठन ISIS में शामिल होने के लिए देश से बाहर गए थे. NIA को शक है कि पकड़े गए लोग उन संदिग्धों के संपर्क में थे. NIA ने कहा था कि डिजिटल उपकरणों की फॉरेंसिक जांच होगी.

ISIS के नए मॉड्यूल को लेकर रेड: NIA ने यूपी और पंजाब में आठ ठिकानों पर मारे छापे

एनआईए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा था कि एजेंसी को खुफिया जानकारी मिली थी कि तीन लोगों के संबंध कथित तौर पर उन कुछ संदिग्धों से हैं, जो आईएस में शामिल होने के लिए भारत से भाग चुके हैं. इसी जानकारी के आधार पर छापे मारे गए.

टिप्पणियां

आतंकी मॉड्यूल के भंडाफोड़ पर अरुण जेटली ने थपथपाई NIA की पीठ, विपक्ष पर दागे कई सवाल

एनआईए के अनुसार, साजिश के हिस्से के रूप में कासरगोड के 14 आरोपी 2016 में मई और जुलाई के बीच भारत या फिर मध्यपूर्व में अपने कार्यस्थलों को छोड़कर अफगानिस्तान या सीरिया चले गए, जहां वे आईएस में शामिल हो गए.हाल ही में आतंकी संगठन आईएसआईएस (ISIS) के नए मॉड्यूल को लेकर राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश और पंजाब में आठ स्थानों पर छापेमारी की थी. आरोप था कि यह समूह दिल्ली तथा उत्तर भारत के अन्य हिस्सों में नेताओं और सरकारी प्रतिष्ठानों पर आत्मघाती हमले और सिलसिलेवार बम धमाके करने की योजना बना रहा है. एजेंसी ने पिछले साल 26 दिसंबर से लेकर अब तक इस संबंध में 12 लोगों को गिरफ्तार किया था.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement