NDTV Khabar

मालवणी जहरीली शराब कांड : पहले पुलिस ने की अनदेखी, अब कर रही है कार्रवाई का ढकोसला

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मालवणी जहरीली शराब कांड : पहले पुलिस ने की अनदेखी, अब कर रही है कार्रवाई का ढकोसला

जहरीली शराब मामले पर पुलिस द्वारा जागरुकता फैलाने के लिए लगाए गए पोस्टर

मुंबई:

मालवणी जहरीली शराब कांड में नया खुलासा हुआ है। कुवैत आर्मी से रिटायर होने का दावा करने वाले मुस्तफा खान का कहना है कि मालवणी पुलिस को लक्ष्मी नगर और आसपास के इलाकों में अवैध शराब बेचे जाने की पूरी जानकारी थी।

टिप्पणियां

साल 2009 में उन्होंने खुद ही सभी आरोपियों के नाम लिख कर शिकायत की थी। लेकिन मालवणी या डीसीपी ने शराब माफिया के खिलाफ कार्रवाई करने की बजाय उन्हें मेरा नाम बता दिया था। फ्रांसिस और उसके साथियों ने तब घर मे आकर उन्हें धमकाया था। मुस्तफा के मुताबिक तब अगर पुलिस ने कार्रवाई की होती तो शायद आज ये दिन नहीं देखना पड़ता।
 
मालवणी में जहरीली शराब पीकर मरने वालों की संख्या 100 का आंकड़ा पार कर गई है। जबकि 45 के करीब अब भी अस्पताल में भर्ती हैं। इस बीच सोमवार की सुबह मालाड में भी 5 लोगों के मरने की खबर ने पुलिस के होश उड़ा दिये थे। खबर आई थी कि मालाड पश्चिम में कांच पाढा में जहरीली शराब पीने से 6 लोगों की मौत हो गई है।


खबर मिलते ही इलाके के थाना प्रभारी के साथ-साथ सहायक पुलिस आयुक्त और पुलिस उपायुक्त तक पंहुच गये। और मृतकों के परिवार वालों से मुलाकात की।
 
बाद में पुलिस ने दावा किया 5 लोग मरे जरूर हैं, लेकिन ये मौतें 19 से 21 जून के बीच हुई हैं और उनमें से 4 टीबी और हार्टअटैक जैसी बीमारी से मरे हैं। हालांकि मृतक अनिल सौदा की पत्नी नीलम ने एनडीटीवी को बताया कि उनके पति की मौत शराब पीने से ही हुई है।
 
मालवणी हादसे के बाद कटघरे में खड़ी पुलिस ने अब शराब माफिया के खिलाफ मुहिम छेड़ते हुए लोगों को भी आगाह करना शुरू किया है और लोगों से जानकारी मांगनी भी शुरू की है कि अगर कोई इस तरह की अवैध गतिविधियों में शामिल हो तो उसकी जानकारी पुलिस को दे। इसके लिए इलाकों में पोस्टर लगाना भी शुरू कर दिया है।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement