NDTV Khabar

जब 5 स्टार होटल शराब नहीं परोस सकते तो 5 स्टार रेटिंग क्यों दी : बीजेपी सांसद किरण खेर

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जब 5 स्टार होटल शराब नहीं परोस सकते तो 5 स्टार रेटिंग क्यों दी :  बीजेपी सांसद किरण खेर

सड़क के किनारे शराबबंदी पर बीजेपी सांसद होटल संचालकों के समर्थन में उतर गई हैं (फाइल फोटो)

चंडीगढ़: पूरे देश में जब शराबबंदी को लेकर एक लहर सी चल रही है, सुप्रीम कोर्ट ने भी राजमार्गों के किनारे शराब की बिक्री पर रोक लगा दी है, ऐसे में बीजेपी सांसद तथा अभिनेत्री किरण खेर शराबबंदी का विरोध कर रहे होटल संचालकों के साथ खड़ी नजर आ रही हैं.

चंडीगढ़ से बीजेपी सांसद किरण खेर राजमार्ग के पास शराब की बिक्री पर पाबंदी लगाने के उच्चतम न्यायालय के आदेश से प्रभावित होटलों के समर्थन में उतरते हुए सवाल किया कि यह कितना तार्किक है कि पांच सितारा रेटिंग वाला एक होटल शराब नहीं परोस सकता.

किरन ने सवाल किया, ‘यह कितना तार्किक है कि पांच सितारा होटल में शराब नहीं परोस सकते. आपने इसे पांच सितारा रेटिंग क्यों दी है? इसे उस जगह के लिए अनुमति क्यों दी गई है?’

उन्होंने कहा कि होटल उद्योग नौकरी देने का बड़ा स्रोत है. इस कदम से पूरे देश में 10 लाख से अधिक नौकरियों का सवाल है. अपने लोकसभा क्षेत्र चंडीगढ के बारे में बात करते हुए किरण ने कहा कि स्थानीय युवाओं को ताज या मैरियट जैसे पांच सितारा होटलों में नौकरी मिली है और ये लोग आदेश द्वारा प्रभावितों में शामिल हैं.
सड़क सुरक्षा के बारे में सवाल करते हुए किरण ने पूछा कि आदतन शराब पीने वाले ट्रक चालकों पर नजर कौन रखेगा क्योंकि, वे वाहन के साथ शराब की बोतलें रख सकते हैं.

किरण ने कहा, ‘ट्रक चालक जो नशे में वाहन चलाते हैं, अपने ट्रकों में बोतलें भरेंगे और राजमार्ग पर वाहन चलाएंगे, उन्हें कौन रोकेगा? इसलिए हमें इस पर सोचने की जरूरत है.’

टिप्पणियां
चंडीगढ होटल एंव रेस्तरां संघ के अनुसार, उच्चतम न्यायालय के आदेश से 95 'बार' प्रभावित होंगे और शहर के सेक्टर 26, 07, 35 और 17 के कई होटल एवं रेस्तरां शराब नहीं परोस पाएंगे. उन्होंने दावा किया कि यह आदेश इन बारों, होटलों और रेस्तरां में नौकरी कर रहे करीब दस हजार लोगों को प्रभावित करेगा.
गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय ने एक हालिया आदेश में कहा था कि एक अप्रैल से राष्ट्रीय और राज्य राजमार्गों के 500 मीटर के दायरे के शराब के ठेके बंद होंगे.

(इनपुट भाषा से भी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement