NDTV Khabar

ये हैं ईपीएफ अकाउंट का बैलेंस जांचने के एक नहीं सात आसान तरीके

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
ये हैं ईपीएफ अकाउंट का बैलेंस जांचने के एक नहीं सात आसान तरीके

खास बातें

  1. यूएएन के जरिए अपनी पीएफ की पासबुक भी डाउनलोड करें
  2. मेंबर पोर्टल से भी मिल सकती पीएफ बैलेंस के बारे में जानकारी
  3. एसएमएस के जरिए जानें अपना ईपीएप बैलेंस
नई दिल्ली:

सरकारी कर्मचारी हो या फिर किसी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में काम करने वाला कर्मचारी। सैलरी से पीएफ तो सभी का कटता है। अकसर इस मुद्दे पर कंपनी की लापरवाही या फिर विभाग पर तमाम उंगलियां उठती हैं। कारण रहता है कि पीएफ अकाउंट अपडेट नहीं है। कभी कंपनी पैसा जमा करने में देरी करती है तो कभी  विभाग की कमी दिखाई देती है।

लेकिन, समय के साथ ईपीएफओ विभाग ने अपने में कई बदलाव किए हैं। तकनीक का भरपूर प्रयोग कर अपनी सेवाएं लोगों तक सरलता से पहुंचाने के रास्ते विभाग खोजता रहता है। विभाग के हजारों करोड़ रुपये का लोगों का अंश दान रहता है और इसी पर ब्याज लोगों के भविष्य को भी तय करता है और इसी लिए यह भविष्य निधि के रूप में भी जानी जाती है। लोगों की गाढ़ी कमाई का हिस्सा होने की वजह से लोगों में इसके प्रति रुचि भी काफी होती है।

विभाग ने लोगों की सहूलियत के लिए ईपीएफ जांचने के लिए कुछ आसान तरीके सुझाए हैं जो संस्थान की वेबसाइट पर भी उपलब्ध हैं। लोग मोबाइल पर भी इस सेवा का लाभ ले सकते हैं और कभी भी अपने पीएफ के बैलेंस को चेक कर सकते हैं।


वर्तमान सरकार में डिजिटल माध्यम के जरिए न केवल सरकारी कामकाज को तेजी देने का काम किया गया है बल्कि लोगों को सहूलियत के लिए इसका ज्यादा से ज्यादा प्रयोग किए जाने पर भी जोर दिया जा रहा है। ऐसे में विभाग ने एक नहीं करीब सात तरीकों से लोगों को पीएफ बैलेंस जांचने की सुविधा प्रदान की है।

1. यूएएन नंबर के जरिए जांचे पीएफ बैलेंस
यूनिवर्सल अकाउंट नंबर या कहें यूएएन वह नंबर है जो विभाग हर उस सरकारी या गैरसरकारी कर्मचारी को देता जो विभाग में अपने को रजिस्टर कराता है। निजी क्षेत्र में अकसर लोग तरक्की की चाह में नौकरी बदल लेते हैं और ऐसे में पीएफ अकाउंट नंबर बदलता रहता था। अब इस समस्या के समाधान के रूप में विभाग ने यूएएन नंबर जारी किया है। इस नंबर से नौकरी बदलने के साथ पीएफ अकाउंट का नंबर भले ही बदल जाए पर यूएएन नंबर बदलता नहीं है। और इसी नंबर पर नया खाता भी जुड़ जाता है।  विभाग की योजना है कि इस नंबर के जरिए आप भविष्य में अपने खाते का संचालन आराम से कर सकें और जरूरत पड़ने पर अपना ट्रानजैक्शन ऑनलाइन भी कर सकें।

यूएएन का सबसे बड़ा फायदा  है कि आप इसके जरिए अपने पीएफ अकाउंट का सही बैलेंस कभी भी जांच सकते हैं। एक बार अपना यूएएन नंबर एक्टिवेट करने के बाद आप हर माह अपने ईपीएफ बैलेंस का अपडेट ले सकते हैं। हर महीने आपको एसएमएस अलर्ट भी आएगा जब आपके खाते में कंपनी की  ओर से पैसे डाले जाएंगे। यह ऑटोमेटेड प्रोसेस के जरिए होता है और इसके लिए आपको ऑनलाइन जाने की भी जरूरत नहीं है।

2. यूएएन के जरिए अपनी पीएफ की पासबुक भी डाउनलोड करें
यूएएन की कई सुविधाओं में एक है ईपीएफ की पासबुक सेवा। यह सेवा सभी खाताधारकों के लिए है। आप जब चाहें अपनी इच्छानुसार ऑनलाइन अपने अकाउंट से अपडेटेड पासबुक डाउनलोड कर सकते हैं। यह पासबुक काफी विस्तृत जानकारी लिए होती है। इसमें आपके नियोक्ता द्वारा आपके पीएफ खाते में डाले गए पैसे की जानकारी भी होती है साथ ही, कर्मचारी पेंशन योजना के तहत आपके खाते में डाले गए पैसों के बारे में भी सूचना अपडेटेड रहती है। एक तरह से देखा जाए तो यह बैंक की पासबुक की तरह ही होती है जहां पर आपके खाते से जुड़े हर लेन-देन दर्ज किए जाते हैं। विभाग की गतिविधियां क्योंकि अब ऑनलाइन हैं तो यह लगभग हर समय अपडेटेड रहती है।

जरूरी यह है कि इस सुविधा का लाभ लेने के लिए आपका यूएएन नंबर एक्टिवेटेड होना चाहिए। इसके बाद  आप अपने खाते में जाकर इस सुविधा का लाभ ले सकते हैं।

3. मेंबर पोर्टल से भी मिल सकती पीएफ बैलेंस के बारे में जानकारी
पीएफ के खाते की जानकारी पासबुक के जरिये मेंबर पोर्टल से भी मिल सकती हैं। इस पोर्टल पर भी यह सुविधा उपलब्ध है। यह सुविधा यूएएन के शुरू होने से पहले विभाग ने अपने खाताधारकों के लिए उपलब्ध कराई थी। यह सुविधा अब भी चालू है। इसका प्रयोग करने वालों की राय है कि यह पोर्टल ज्यादा कामयाब है। इसका प्रयोग आप तब भी कर सकते हैं जब आप अपना यूएएन नंबर भूल गए हों या फिर उसका पासवर्ड भूल गए हों। मेंबर पोर्टल पर केवल पीएफ खाता नंबर की जरूरत होती है और इसके जरिए आप पासबुक को डाउनलोड कर सकते हैं। इस पोर्टल के जरिए पीएफ बैलेंस पता करने के लिए आपको यहां पर एक बार रजिस्टर होना पड़ेगा। यह पर रजिस्टर करने के लिए आपको केवल केवाईसी (KYC) डिटेल की आवश्यकता है।

इस पोर्टल पर किसी पासवर्ड की आवश्यकता नहीं पड़ती। केवाइसी डॉक्यूमेंट की डिटेल के अलावा केवल मोबाइल नंबर के  जरिए आप लॉगिन हो जाते हैं। फिर पीएफ अकाउंट नंबर देकर और मोबाइल पर भेजे गए ओटीपी के बाद  आप पीएफ अकाउंट की पासबुक डाउनलोड कर सकते हैं।

4. ईपीएफ की मोबाइल ऐप
ईपीएफओ  विभाग ने आधिकारिक रूप से अपना मोबाइल ऐप लॉन्च किया है। इस ऐप के जरिए आप अपना ईपीएफ बैलेंस चेक कर सकते हैं और यहां पर यूएएन को एक्टिवेट भी कर सकते हैं। इस ऐप को नियोक्ता और पेंशनर भी प्रयोग में ला सकते हैं। इस ऐप को संस्थान की साइट से डाउनलोड किया जा सकता है। गूगल प्ले स्टोर पर भी यह ऐप उपलब्ध है। यह पर पीएफ बैलेंस चेक करने के लिए यूएएन नंबर और रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर की जरूरत होती है। इस सुविधा का लाभ वही खाताधारक उठा सकते हैं जिन्होंने अपने यूएएन नंबर को एक्टिवेट कर रखा है। घबराने की बात नहीं है, अगर आपने अपना यूएएन नंबर एक्टिवेट नहीं किया है तब भी आप इस ऐप के जरिए भी यह काम कर सकते हैं।

5. एसएमएस के जरिए जानें अपना ईपीएप  बैलेंस
मिस कॉल के अलावा आप अपने मोबाइल से एक एसएमएस भेज कर भी पीएफ बैलेंस जांच सकते हैं। यह मैसेज भी मिस कॉल सर्विस की तरह ही आता है। इस सेवा के जरिए आपको अपनी भाषा में यह सुविधा उपलब्ध हो सकती है। इस सुविधा का प्रयोग तब ज्यादा कारगर महसूस होता है जब आप अपने फोन से कॉल करने में सक्षम नहीं होते हैं। एसएमएस के तय फॉर्मेट में भेजा जाना चाहिए। यह फॉर्मेट है EPFOHO UAN ENG और यह 7738 299 899 नंबर पर भेजा जाना चाहिए।

6. ईपीएफ का बैलेंस जानने का पुराना ऑनलाइन तरीका
ईपीएफ बैलेंस जांचने का यह पुराना तरीका है, लेकिन गूगल पर सर्च करने पर यह अब भी मिल जाता है। इसमें आपको केवल अपना पीएफ नंबर देना होता है और अपना मोबाइल नंबर डालना होता है। मोबाइल पर पीएफ बैलेंस आ जाता है। इस विकल्प के जरिए पहले आपको पहले अपने ईपीएफओ ऑफिस की जानकारी होनी चाहिए जहां पर आपका अकाउंट है। वहां पर जाने के बाद पीएफ अकाउंट नंबर देना होता है। मोबाइल नंबर देना होगा। प्रक्रिया पूरी होने के बाद मोबाइल प एसएमएस के जरिए डिटेल आ जाएगी।

टिप्पणियां

7. ईपीएफ की मिस्ड कॉल सर्विस, ईपीएफओ विभाग ने लॉन्च किया ऐप
मोबाइल के जरिए ईपीएफ बैलेंस जांचने के लिए विभाग ने एक ऐप भी लॉन्च किया है और यह मिस कॉल सर्विस से जुड़ा हुआ है। माना जाता है कि ईपीएफओ विभाग की पीएफ बैलेंस जांचने की यह सेवा सबसे आसान है। इसके लिए आपको रजिस्टर्ड नंबर से तय नंबर पर एक मिस कॉल देना होता है और कुछ ही मिनट में आपके मोबाइल पर सूचना आती है। जिसमें आपका नाम, जन्मदिन, यूएएन, केवाईसी स्टेटस, पिछली जमा कराई गई रकम और पीएफ बैलेंस दिया जाता है।

यह सेवा पूरी तरह से नि:शुल्क है। इसके लिए आपको 011-2290-1406 नंबर पर मिस कॉल देनी है और दो रिंग के बाद कॉल अपने आप कट जाता है।  (नोट : इस सेवा का प्रयोग करने पर हमें कोई जवाब नहीं मिला)
 



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement