Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

Howdy Modi: पीएम मोदी ने कहा - हम किसी दूसरे से नहीं बल्कि खुद से मुकाबला कर रहे हैं, 10 बातें

प्रधानमंत्री मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने यहां एनआरजी स्टेडियम में ‘हाउडी, मोदी’ कार्यक्रम में 50,000 भारतीय-अमेरिकियों के जनसमूह को रविवार को संबोधित किया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Howdy Modi: पीएम मोदी ने कहा - हम किसी दूसरे से नहीं बल्कि खुद से मुकाबला कर रहे हैं, 10 बातें

Howdy Modi कार्यक्रम में भारतीय समुदाय को संबोधित करते पीएम नरेंद्र मोदी

नई दिल्‍ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अमेरिका के ह्यूस्‍टन में यहां भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए अपनी चिरपरिचित शैली ‘भाइयों और बहनों’ के बजाय ‘हाउडी, माय फ्रेंड्स (मेरे मित्रों)’ का इस्तेमाल किया. प्रधानमंत्री मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने यहां एनआरजी स्टेडियम में ‘हाउडी, मोदी’ कार्यक्रम में 50,000 भारतीय-अमेरिकियों के जनसमूह को रविवार को संबोधित किया. उन्होंने वहां मौजूद लोगों का अभिवादन करते हुए कहा, ‘‘हाउडी, माय फ्रेंड्स (मेरे मित्रों)?’’ उन्होंने ‘मोदी-मोदी’ के नारों के बीच कहा, ‘‘अगर आप मुझसे पूछोगे, ‘हाउडी, मोदी’ तो मेरा जवाब है : भारत में सबकुछ अच्छा है.’’ ‘हाउ डू यू डू?’ का संक्षिप्त रूप ‘‘हाउडी’’ दक्षिण पश्चिमी अमेरिका में आमतौर पर अभिवादन के तौर पर बोला जाता है. यह कार्यक्रम गैर लाभकारी टेक्सास इंडिया फोरम ने आयोजित किया था और इसका विषय ‘साझा सपने, उज्ज्वल भविष्य’ था. मोदी के दो चिरपरिचित संवाद जो प्रधानमंत्री का पर्याय बन गए, वे हैं ‘‘भाइयों और बहनों’’ तथा ‘‘मित्रों’’. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को 'हाउडी, मोदी' के लिए ह्यूस्टन को इसके शानदार' स्वागत और प्यार के लिए शुक्रिया अदा किया. पढ़ें वो 10 बड़ी बातें जो पीएम मोदी ने 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम में अपने संबोधन में कहीं...
Howdy Modi में पीएम मोदी की कही 10 बड़ी बातें...
  1. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की हौसला अफजाई की और लोकसभा चुनाव के दौरान भाजपा के लोकप्रिय नारे 'अबकी बार, मोदी सरकार' की तर्ज पर 'अबकी बार, ट्रंप सरकार' कहकर उनका उत्साहवर्धन किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि मंच पर उनकी उपस्थिति दोनों देशों के बीच घनिष्ठ साझेदारी का संकेत देती है.
  2. प्रधानमंत्री मोदी ने अर्थव्यवस्था सहित देश को मजबूत बनाने की दिशा में उठाये गए कदमों का जिक्र करते हुए शनिवार को कहा कि ‘‘भारत में सब अच्छा है, भारत में सब चंगा है.'' पीएम मोदी ने कहा, ‘‘आज भारत पहले के मुकाबले और तेज गति से आगे बढ़ना चाहता है. भारत कुछ लोगों की सोच को चुनौती दे रहा है, जिनकी सोच है कि कुछ बदल ही नहीं सकता. बीते पांच सालों में 130 करोड़ भारतीयों ने हर क्षेत्र में ऐसे नतीजे हासिल किए हैं जिनकी पहले कोई कल्पना भी नहीं कर सकता था.
  3. पीएम मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मौजूदगी में आतंकवाद के खिलाफ ‘निर्णायक लड़ाई' का आह्वान किया और पाकिस्तान का नाम लिये बिना उसे अमेरिका में 9/11 से लेकर मुंबई के 26/11 आतंकी हमले के लिये जिम्मेदार ठहराया. उन्‍होंने कहा, 'भारत जो विकास कार्य कर रहा है, उससे कुछ लोगों की दिक्कत हो रही है.
  4. उन्होंने पाकिस्तान के शासकों की ओर संकेत करते हुए कहा, ‘‘जिनसे खुद अपना देश नहीं संभलता, इन लोगों ने भारत के प्रति अपनी नफरत को अपनी राजनीति का केंद्र बना दिया है.'' प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘ये वो लोग हैं जो अशांति चाहते हैं, आतंक के समर्थक हैं, आतंक को पालते पोसते हैं.'' उन्होंने कहा, ‘‘उनकी पहचान आप भी अच्छी तरह जानते हैं. अमेरिका में 9/11 हो या मुम्बई में 26/11... उसके साजिशकर्ता कहां पाये जाते है?''
  5. अमेरिकी राष्ट्रपति की मौजूदगी में मोदी ने कहा, ‘‘अब समय आ गया है कि आतंकवाद के खिलाफ और आतंकवाद को बढ़ावा देने वालों के खिलाफ निर्णायक लड़ाई लड़ी जाए. मैं यहां पर जोर देकर कहना चाहूंगा कि इस लड़ाई में राष्ट्रपति ट्रंप पूरी मजबूती के साथ आतंक के खिलाफ खड़े हुए हैं.'' प्रधानमंत्री मोदी ने अमेरिका में यह बात ऐसे समय में कही है जब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भी संयुक्त राष्ट्र महासभा के सम्मेलन में हिस्सा लेने अमेरिका पहुंचे हैं. इमरान की भी ट्रंप से मुलाकात होने वाली है.
  6. मोदी ने कहा, ‘‘हम किसी दूसरे से नहीं बल्कि खुद से मुकाबला कर रहे हैं. हम अपने को बदल रहे हैं क्योंकि भारत में ‘विकास' आज सबसे चर्चित शब्द बन गया है. धैर्य हम भारतीयों की पहचान है लेकिन अब हम विकास के लिये अधीर हैं.'' उन्होंने कहा, ‘‘हम बड़ा लक्ष्य रखते हैं और बड़ी उपलब्धि हासिल कर रहे हैं.''
  7. प्रधानमंत्री ने कहा कि एक भी भारतीय विकास के लाभ से वंचित रहे, यह भी भारत को मंजूर नहीं है. विकास का लाभ समाज के सभी वर्गों को मिलना चाहिए. मोदी ने कहा कि सबसे बड़ा मंत्र है- सबका साथ-सबका विकास, भारत की सबसे बड़ी नीति है- जन भागीदारी, भारत का सबसे प्रचलित नारा है- संकल्प से सिद्धि और भारत का सबसे बड़ा संकल्प है- न्यू इंडिया.
  8. प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘अलग-अलग पंथ, संप्रदाय, सैकड़ों तरह का अलग-अलग क्षेत्रीय खान-पान, अलग-अलग वेशभूषा और अलग-अलग मौसम एवं ऋतु चक्र भारत को अद्भुत बनाते हैं. उन्‍होंने कहा, ‘‘सदियों से हमारे देश में सैकड़ों भाषाएं, सैकड़ों बोलियां, सहअस्तित्व की भावना के साथ आगे बढ़ रही हैं.'' उन्होंने कहा कि भारत की अलग-अलग भाषाएं और उदार एवं लोकतांत्रिक समाज हमारी पहचान है. अलग-अलग भाषा, अलग-अलग पंथ, पूजा पद्धति, वेषभूषा इस धरती को अद्भुत बनाये हुए हैं.
  9. मोदी ने कहा कि भारत में बहुत कुछ हो रहा है, बहुत कुछ बदल रहा है और बहुत कुछ करने के इरादे लेकर हम चल रहे हैं. हमने नई चुनौतियां तय करने की, उन्हें पूरा करने की एक जिद ठान रखी है. प्रधानमंत्री मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति को सपरिवार भारत आने का न्योता भी दिया.
  10. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘हाउडी मोदी' महारैली में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का भारतीय-अमेरिकी समुदाय से परिचय कराते हुए उन्हें ‘‘विशेष व्यक्ति'' बताया. उन्होंने कहा कि ट्रंप की इस कार्यक्रम में मौजूदगी यह दर्शाती है कि भारत का व्हाइट हाउस में सच्चा मित्र है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
टिप्पणियां
 Share
(यह भी पढ़ें)... Dabboo Ratnani's 2020: कियारा आडवाणी, भूमि पेडनेकर और कृति सैनन का धांसू अंदाज, वायरल हुईं Photos

Advertisement