जयपुर नगर निगम की बैठक में हंगामा, मुद्दों पर चर्चा के बजाय जूते-चप्पल फेंके गए

जयपुर नगर निगम की बैठक में हंगामा, मुद्दों पर चर्चा के बजाय जूते-चप्पल फेंके गए

खास बातें

  • मेयर के सामने जाकर गिरी थी चप्पल
  • मान की पंडित के बयान से बिगड़ी बात
  • कांग्रेस के पूर्व पार्षदों पर लगाया आरोप
जयपुर:

जयपुर नगर निगम की दो दिन चलने वाली साधारण सभा में शहरी विकास और सफाई के मुद्दे पर चर्चा कम और हंगामा ज्यादा दिखा.

बात तब बिगड़ी जब वार्ड 19 के पार्षद मान पंडित ने बोलना शुरू किया, उन्होंने शहर की खराब दशा के लिए कांग्रेस को दोषी ठहराया और कहा कि "अगर मैं आपके बाप दादाओं पर आऊंगा तो शर्म आएगी. "   मान पंडित के इस बयान पर कांग्रेस के पार्षद बिफर गए. हाथों में जूते-चप्पल लेकर वेल में घुस गए. कुछ पार्षदों ने जूते-चप्पल लहराए. सांगानेर के वार्ड 39 की पार्षद सुमन गुर्जर ने अपनी चप्पल को उछाला तो चप्पल मेयर के सामने जा गिरी. मेयर ने सबको चैंबर में बुलाया. मान पंडित के माफी मांगने के बाद सभा दोबारा शुरू हुई.

मान पंडित ने साफ किया किया 'बाप दादाओं' से उनका मतलब कांग्रेस पार्षद के रिश्तेदार नहीं बल्कि नगर निगम में रहे कांग्रेस के पूर्व पार्षदों की ओर था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


ज़ाहिर है कि दो दिन चलने वाले जयपुर नगर निगम की साधारण सभा में शहर के विकास के लिए कोई ठोस कदम तो नहीं उठाये गए लेकिन इस तरह का ड्रामा ज़रूर हुआ.