NDTV Khabar

NIA को हुर्रियत नेता ने भेजा ऐसा खत, बेबस हो गए डीजी

डीजी साहब हैरान ज़्यादा इसीलिए भी हुए क्योंकि बुधवार को नसीम गिलानी को NIA के सामने पेश होना था. लेकिन पेश होने के बजाए उसने एक चिट्ठी भेज दी थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
NIA को हुर्रियत नेता ने भेजा ऐसा खत, बेबस हो गए डीजी

हुर्रियत नेता सैयद अली शाह गिलानी.

नई दिल्ली: एक खाकी लिफ़ाफ़ा जब डीजी NIA शरद कुमार के टेबल पर बुधवार सुबह पहुंचा तो वो कुछ हैरान ज़रूर हुए क्योंकि उस लिफ़ाफ़े में एक चिट्ठी थी जो हुर्रियत नेता सैयद अली शाह गिलानी के छोटे बेटे नसीम खान ने डीजी साहब को लिखी थी. डीजी साहब हैरान ज़्यादा इसीलिए भी हुए क्योंकि बुधवार को नसीम गिलानी को NIA के सामने पेश होना था. लेकिन पेश होने के बजाए उसने एक चिट्ठी भेज दी थी.  जो जो चिट्ठीमें लिखा था उसे पढ़कर शरद कुमार कुछ सकपका गए. दरअसल चिट्ठी में गिलानी के छोटे बेटे ने लिखा था अगर NIA चाहती है कि वह उसके सामने पेश हो तो उन्हें सही तरीक़े से समन करना चाहिए. 

चिट्ठी में लिखा था, "NIA को मुझे मेरे डिपार्टमेंट के ज़रिए बुलाना चाहिए ताकि मैं अपना ट्रैवल और डीयरनेस अलाउंस ले सकूं." नसीम गिलानी शेर ए कश्मीर की ऐग्रिकल्चर यूनिवर्सिटी में बतौर प्रोफ़ेसर काम करते हैं.  एक सीन्यर अधिकारी ने हँसते हुए कहा, "हमें पहले कभी ऐसी दरख्वास्त नहीं मिली है." उनके मुताबिक़ ये सब इसीलिए किया जा रहा है ताकि NIA के सामने नसीम की पेशी तब ना हो जब उसकी गिरफ़्त में सात आरोपी हैं. 

यह भी पढ़ें : गिलानी के दामाद सहित कश्मीर के सात अलगाववादी नेताओं को कोर्ट ने NIA की हिरासत में भेजा

बड़े भाई नईम गिलानी को दिल की समस्या : बहरहाल NIA ने नसीम गिलानी की बात रखते हुए शेर ए कश्मीर यूनिवर्सिटी को लिख दिया है कि वो नसीम को दिल्ली आने की अनुमति दे ताकि वो NIA के सामने पेश हो सके. नसीम गिलानी को अब NIA ने 7 अगस्त को बुलाया है.  जहां तक बड़े भाई नईम गिलानी का है NIA का कहना है कि उसने चिट्ठी लिखकर बताया है  उसे दिल की कोई प्रॉब्लम है और वो अस्पताल में भर्ती है इसीलिए पूछताछ के लिए दिल्ली नहीं आ सकता. जब वो ठीक हो जाएगा तो NIA को इतलाह कर देगा. नईम और नसीम दोनों NIA की जांच के घेरे में हैं क्योंकि अपनी पूछताछ के दौरान अलताफ़ फ़ंटूश जोकि गिलानी का दामाद है उसने बताया है कि गिलानी का ज़्यादा काम बेटे ही देखते थे. 

यह भी पढ़ें : टेरर फंडिंग : एक कैलेंडर के सामने आने के बाद सैयद अली शाह गीलानी पर कसा शिकंजा

टिप्पणियां
शब्बीर शाह से पूछताछ दिल्ली में : 30 मई को NIA ने एक एफ़आईआर दर्ज की थी जिसमें कश्मीर के अलगाववादी नेता,  हुर्रियत नेता पर आरोप लगाया था कि वो प्रतिबंधित संगठन हिज़्बुल मुजाहिदीन, लश्कर ए तैयबा और दुखतरने मिल्लत से पैसा लेते और देते हैं और घाटी में हिंसा को बढ़ावा देते हैं.  दूसरी तरफ़ NIA ने बुधवार को शब्बीर शाह से पूछताछ दिल्ली में की. शाह इन दिनों ED की गिरफ़्त में हैं. NIA के मुताबिक़ उन्होंने शाह से टेरर फ़ंडिंग के मामले में ही पूछताछ की है. 

एक सीनियर पुलिस अफ़सर में एनडीटीवी इंडिया को बताया, "हमने उसे गिरफ़्तार नहीं किया है लेकिन वो दिल्ली में है और हमें कुछ जानकारियाँ चाहिए थी इसीलिए उससे स्टेट्मेंट लेने गए थे."  शाह ने कथित तौर पर NIA को बताया कि एसएएस गिलानी पाकिस्तान से बहुत पैसा लेते हैं. उस अफ़सर ने बताया कि "गिलानी को बहुत पैसा आता है लेकिन शाह को उसके मुक़ाबले बहुत कम मिलता है इस बात को लेकर दोनों में कुछ अनबन थी." 
VIDEO : हुर्रियत की फंडिंग पर उठे सवाल

शाह ये भी चाहता था कि पाकिस्तान उससे सीधा डील करे नाकी गिलानी के ज़रिए. NIA ने इसके संबंध में भी शबीर शाह से पूछताछ की. अफसर ने कहा, "कुछ बैंक अकाउंट और प्रॉपर्टी के बारे में भी जानकारी हमें चाहिए थी वो भी उस से हम ने ले ली है." 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement