मैं लाशों के ढेर पर चुनाव नहीं चाहता, NDTV से बोले तेजस्वी यादव

बिहार (Bihar) विधानसभा चुनाव के मुद्दे पर राजद नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने कहा, ''मैं नहीं चाहता कि बूथ के बाद लोग सीधे श्मशान जाएं, मैं लाशों के ढेर पर चुनाव एकदम नहीं चाहता.''

नई दिल्ली:

बिहार (Bihar) विधानसभा चुनाव के मुद्दे पर राजद नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने कहा, ''मैं नहीं चाहता कि बूथ के बाद लोग सीधे श्मशान जाएं, मैं लाशों के ढेर पर चुनाव एकदम नहीं चाहता. लोकतंत्र में जब लोग नहीं रहेंगे तो तंत्र किस काम का. चुनाव के चलते लोगों के जीवन को खतरे में डालना गलत है.'' तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार (Nitish Kumar) पर हमला बोलते हुए कहा कि मुख्यमंत्री को अगर बाढ़ से डर लग रहा है तो हवाई सर्वे ही कर लें.

बिहार में कोरोना की स्थिति बदतर...

तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहार सरकार आनन फानन में सिर्फ कागजों में काम कर रही है. जमीनी हकीकत ये है कि बिहार में स्थिति बद से बदतर होती जा रही है. हालात बेहद नाजुक हैं और लाश को उठाने वाला भी कोई नहीं है. कुछ समय पहले कोविड की लड़ाई में निजी अस्पतालों को भी शामिल किया गया था लेकिन यह समझ नहीं आ रहा कि सरकार अब तक सोयी क्यों हुई थी. 

यह भी पढ़ें: बिहार में कोरोना टेस्ट‍िंग को लेकर नीतीश कुमार पर तेजस्वी का हमला, पूछे कई गंभीर सवाल

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बिहार कोरोना का ग्लोबल हॉटस्पॉट...

तेजस्वी ने कहा,''बिहार के मुख्यमंत्री कोरोना के इस समय में घर से बाहर नहीं निकले उन्हें सिर्फ अपने चुनाव की चिंता है.'' यादव ने कहा कि बिहार की स्थिति यह है कि वह ग्लोबल हॉटस्पॉट बनने की कगार पर है. तेजस्वी ने कहा कि अगर सही से टेस्ट कराए जाएं तो बिहार में बहुत से मामले सामने आएंगे. बिहार में कोरोना पॉजिटिविटी रेट तेजी से बढ़ रहा है. बिहार में फिलहाल एक फीसदी लोगों की भी जांच नहीं हो सकी है. तेजस्वी ने आरोप लगाया कि बिहार सरकार और केंद्र सरकार के आंकड़ों में बहुत फर्क है. कोरोना टेस्ट के मामले में भी फर्जीवाड़ा सामने आ रहा है. बिहार सरकार कोरोना के आंकड़ो को लेकर पारदर्शिता नहीं रख रही है.