NDTV Khabar

मैंने जयललिता को चोट पहुंचाई, मेरी वजह से उनकी पार्टी हारी : रजनीकांत

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मैंने जयललिता को चोट पहुंचाई, मेरी वजह से उनकी पार्टी हारी : रजनीकांत

जयललिता और रजनीकांत (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. रजनीकांत ने दिवंगत मुख्यमंत्री जयललिता को श्रद्धांजलि अर्पित की.
  2. रजनीकांत ने जयललिता के खिलाफ इस्तेमाल किए गए अपने शब्दों को भी याद किया
  3. ...तो भगवान भी तमिलनाडु को बचा नहीं सकता.
चेन्नई:

तमिल सुपरस्टार रजनीकांत ने दिवंगत मुख्यमंत्री जयललिता को श्रद्धांजलि अर्पित की और उन्हें ‘कोहिनूर हीरा’ बताया जिन्होंने पुरुष प्रधान समाज में मुश्किलों के बीच अपना रास्ता तैयार किया.

जयललिता और कलाकार से पत्रकार बने चो एस रामास्वामी के लिए साउथ इंडियन आर्टिस्ट्स एसोसिएशन या नाडिगर संगम द्वारा आयोजित शोकसभा में रजनीकांत ने 1996 के विधानसभा चुनाव के दौरान जयललिता के खिलाफ इस्तेमाल किए गए अपने कड़े शब्दों को भी याद किया, जिससे उन्हें (जयललिता को) बहुत दुख हुआ था.

दो घटनाएं, जिन्होंने जयललिता को पहले राजनेता, फिर 'अम्मा' बना दिया...

उन्होंने तत्कालीन अन्नाद्रमुक सरकार की अपनी आलोचना का जिक्र करते हुए कहा, मैंने उन्हें चोट पहुंचाई. मैं उनकी (पार्टी की) हार की मुख्य वजह था.


अलविदा अम्‍मा : जयललिता इसीलिए थीं सबकी अम्मा...

रजनीकांत ने तब कहा था कि यदि जयललिता की अन्नाद्रमुक चुनकर फिर सत्ता में आई तो भगवान भी तमिलनाडु को बचा नहीं सकता. तब द्रमुक नीत गठबंधन ने प्रबल सत्ताविरोधी लहर में चुनाव जीता था.

राजनीति छोड़ किताबों-संगीत के साथ 'दुनिया के पागलपन' से दूर रहना था 'अम्मा' का सपना...

टिप्पणियां

रजनीकांत ने अपने पुराने दोस्त रामास्वामी को भी श्रद्धांजलि दी. जयललिता का 5 दिसंबर को निधन हो गया था जबकि रामास्वामी सात दिसंबर को गुजर गए थे.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement