पार्टी नेताओं संग बैठक के बाद बोले रजनीकांत, राजनीति पर फैसले का जल्द करूंगा ऐलान

रजनीकांत (Rajniikanth) के समर्थकों ने उनसे चुनाव से दूर रहने के अपने फैसले पर पुनर्विचार करने का आग्रह किया था. इसके बाद रजनीकांत ने समर्थकों के साथ विचार किया.  राज्य में अगले साल विधानसभा चुनाव (Tamilnadu Assembly Election) होने हैं. 

पार्टी नेताओं संग बैठक के बाद बोले रजनीकांत, राजनीति पर फैसले का जल्द करूंगा ऐलान

Rajinikanth के सक्रिय राजनीति में आने की दो साल से लग रही हैं अटकलें

चेन्नई:

सुपरस्टार रजनीकांत ने कहा है कि वह राजनीति में आने के कयासों को लेकर अपने फैसले का जल्द ऐलान करेंगे. रजनीकांत ने सोमवार को अपनी पार्टी रजनी मक्कल मंदरम के जिला सचिवों से मुलाकात की और फिर यह प्रतिक्रिया दी. दरअसल, रजनीकांत (Rajniikanth) के समर्थकों ने उनसे चुनावी राजनीति से दूर रहने के अपने फैसले पर पुनर्विचार करने का आग्रह किया था. इसके बाद रजनीकांत ने समर्थकों के साथ विचार-विमर्श शुरू किया.  राज्य में अगले साल विधानसभा चुनाव (Tamilnadu Assembly Election) होने हैं.

अभिनेता रजनीकांत (Rajniikanth) ने पिछले महीने संकेत दिया था कि चुनावी राजनीति में उनके प्रवेश में देरी हो सकती है. उन्होंने महामारी के दौरान प्रचार और अपने स्वास्थ्य को लेकर डॉक्टरों की चिंता का हवाला दिया गया था. डॉक्टरों ने अभिनेता को यात्रा नहीं करने की सलाह दी थी. डॉक्टरों को आशंका है कि उनकी किडनी की हालत को देखते हुए वे कोविड-19 (Covid-19) वायरस की चपेट में आ सकते हैं. 69 वर्षीय रजनीकांत ने कहा था कि यह पत्र "मेरा नहीं, बल्कि डॉक्टर की सच्ची सलाह है."

रजनीकांत पिछले दो वर्षों से तमिलनाडु (Tamilnadu) से जुड़े विभिन्न राजनीतिक मुद्दों पर अपनी राय देते रहे हैं. भाजपा से भी उनके जुड़ने की कई बार अटकलें लगाई गईं. हालांकि सक्रिय राजनीति में प्रवेश को टालते रहे अभिनेता ने कहा, "मैं अपनी पार्टी रजनी मक्कल मंदरम (Rajini makkal mandram) से चर्चा करूंगा और उचित समय पर अपने राजनीतिक रुख की घोषणा करूंगा." हाल ही में तमिलनाडु के वेल्लोर जिले में रजनी के पोस्टर सामने आए थे.इसमें उनसे राजनीति से दूर रहने के फैसले पर पुनर्विचार करने का आग्रह किया गया था. ऐसा ही एक पोस्टर "वेल्लोर सिटिजंस विशिंग फॉर ए चेंज" का सामने आया था. 

Newsbeep

तमिलनाडु में विधानसभा चुनाव कुछ महीने बाद
तमिलनाडु विधानसभा चुनाव (Tamilnadu Assembly Election) से कुछ महीने दूर ही है. राज्य के दो सबसे शक्तिशाली नेता एआईएडीएमके (AIADMK) की जे जयललिता और डीएम के के एमके करुणानिधि (Karunanidhi) की मृत्यु के बाद रजनीकांत की चुनाव में उनकी भूमिका निर्णायक हो सकती है. तमिलनाडु में लगातार दो बार से एआईएडीएमके की सरकार है. लंबे समय बाद ऐसा पहली बार हुआ था कि राज्य में एक पार्टी की लगातार दूसरी बार सरकार बनी हो. जयललिता के निधन के बाद एआईएडीएमके लिए यह कड़ा इम्तेहान होगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


कमल हासन के साथ गठजोड़ की अटकलें भी थीं
पिछले साल अभिनेता और नेता कमल हासन (मक्कल नीधी माईम के प्रमुख) और रजनीकांत ने सुपरस्टार गठजोड़ की संभावना को लेकर तमिलनाडु के कल्याण के लिए एक साथ काम करने की इच्छा व्यक्त की थी. पिछले हफ्ते गृह मंत्री अमित शाह की यात्रा के दौरान सत्तारूढ़ अन्नाद्रमुक ने कहा था कि वह बीजेपी के साथ अपना गठबंधन जारी रखेगी. बीजेपी की राज्य में उपस्थिति नगण्य है और वह लंबे समय से रजनीकांत को अपने साथ लेने की कोशिश में जुटी है. हालांकि अमित शाह और रजनीकांत के बीच कोई बैठक नहीं हुई है.