NDTV Khabar

वायुसेना के शहीद पायलट का सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार, 21 तोपों की सलामी भी दी गई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा कि हर भारतीय को गर्व है कि पाकिस्तान द्वारा पकड़े गए बहादुर विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान (Abhinandan Varthaman) तमिलनाडु से हैं. रामेश्वर और धनुषकोडी के बीच एक रेलवे लाइन का उद्घाटन करने के बाद मोदी ने कहा, 'मुझे गर्व है कि भारत की पहली महिला रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण भी तमिलनाडु से हैं.' 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
वायुसेना के शहीद पायलट का सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार, 21 तोपों की सलामी भी दी गई

शहीद वायुसेना पायलट को 21 तोपों की सलामी भी दी गई (फाइल फोटो)

नासिक:

दो दिन पहले जम्मू कश्मीर में हेलीकॉप्टर के दुर्घटनाग्रस्त (IAF Helicopter Crashed) होने पर शहीद हो गये वायुसेना के पायलट निनाद मांडवगाने (Ninad Mandavgane) का यहां शुक्रवार को पूरे सैन्य सम्मान (Full Military Honours) के साथ अंतिम संस्कार किया गया. नासिक के रहने वाले मांडवगाने (33) का करीब साढ़े बारह बजे गोदावरी नदी के तट पर दाह संस्कार किया गया. जम्मू कश्मीर के बडगाम जिले में बुधवार को हेलीकॉप्टर के दुर्घटनाग्रस्त होने पर मांडवगाने और छह अन्य की मृत्यु हो गयी थी. अधिकारियों के अनुसार बडगाम (Budgam) में गारेंड कलां गांव के समीप सुबह करीब दस बजकर पांच मिनट पर एक खुले मैदान में हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त होकर गिर गया था. उसके पायलटों के अलावा उस पर सवार चार अन्य लोग एवं एक स्थानीय निवासी की मृत्यु हो गयी थी.

मांडवगाने का पार्थिव शरीर बृहस्पतिवार की रात को वायुसेना के एक विशेष विमान से नयी दिल्ली से ओझार हवाई अड्डे पर लाया गया था. ओझार वायुसेना स्टेशन के कमांडिंग अधिकारी एयर कमोडोर समीर बोराडे समेत वायुसेना के कई अधिकारियों और नासिक के जिलाधिकारी ने वहां पायलट को श्रद्धांजलि दी. उसके बाद मांडवगाने का पार्थिव शरीर नासिक में डीजीपी नगर इलाके में उनके निवास पर लाया गया.


टिप्पणियां

श्मशान घाट पर शहीद पायलट को श्रद्धांजलि देने के लिए बड़ी संख्या में लोग जुटे थे. लोगों ने वहां वंदे मातरम और भारत माता की जय के नारे लगाए. मांडवगाने के अंतिम संस्कार के समय उनके पिता अनिल, माता सुषमा, पत्नी विजेता और दो साल की बेटी, रिश्तेदार तथा अन्य लोग मौजूद थे. अनिल द्वारा मुखाग्नि देने से पहले वायुसेना की नासिक इकाई और नासिक पुलिस ने 21 तोपों की सलामी (21 gun salute) दी. वायुसेना में जाने से पहले मांडवगाने ने नासिक में भोंसले मिलिट्री स्कूल, औरंगाबाद में सर्विसेज प्रेपरेटरी इंस्टीट्यूट और पुणे की राष्ट्रीय रक्षा अकादमी में पढ़ाई की थी.

VIDEO: जम्मू एवं कश्मीर के बडगाम में सेना का Mi-17 हेलीकॉप्टर क्रैश



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement