NDTV Khabar

मैं 'कृष्ण' और मेरा भाई तेजस्वी अर्जुन : तेजप्रताप यादव 

राष्ट्रीय जनता दल की रैली 'बीजेपी भगाओ देश बचाओ' था, लेकिन इस पूरी रैली में लालू यादव ने बहुत ही चालाकी से लाखों की भीड़ के सामने अपने दोनों बेटों को पार्टी की कमान सौंप दी.

2539 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
मैं 'कृष्ण' और मेरा भाई तेजस्वी अर्जुन : तेजप्रताप यादव 

पटना के गांधी मैदान में रविवार को रैली के दौरान बोलते तेजप्रताप यादव.

खास बातें

  1. लालू यादव ने लाखों की भीड़ के सामने दोनों बेटों को पार्टी की कमान सौंप दी
  2. तेजस्वी ने रैली को अनुशासित बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी
  3. लालू ने अपने भाषण में तेजस्वी के तारीफों के पुल बांधे
पटना: राष्ट्रीय जनता दल की रैली 'बीजेपी भगाओ देश बचाओ' था, लेकिन इस पूरी रैली में लालू यादव ने बहुत ही चालाकी से लाखों की भीड़ के सामने अपने दोनों बेटों को पार्टी की कमान सौंप दी. पूरी रैली के आयोजन पर जहां तेजस्वी यादव के प्रबंधन की चर्चा रही वहीं, अभी तक अपने छोटे भाई के साए में राजनीति कर रहे तेजप्रताप यादव पहली बार बोले और अपने वोटरों को प्रभावित करने में कामयाब रहे. 

यह भी पढ़ें : 'बीजेपी भगाओ, देश बचाओ' रैली में बोले लालू यादव- मैं झुकने वाला नहीं

अगली पक्ति में दिखे तेजप्रताप
तेजप्रताप यादव , जो इस रैली में अगली पंक्ति में बैठे वहीं, पार्टी के वरिष्ठ नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी और रघुवंश प्रसाद सिंह दूसरी पक्ति में बैठे दिखे. इससे साफ़ था लालू तेजप्रताप को कितनी अहमियत देते हैं. तेजप्रताप भाषण देने के लिए शरद यादव के बाद आए और अपने को कृष्ण और छोटे भाई, तेजस्वी यादव को अपना अर्जुन बताया. पिता लालू यादव के स्टाइल में तेजप्रताप ने कहा कि बीजेपी को चीड़ कर रख देंगे. फिर आरएसएस प्रमुख मोहन भगवत पर चुटकी लेते हुए कहा कि हाफ पैंट पहनते हैं, इसलिए आधा दिमाग है. फिर शंख लाने के लिए कहा और शंख बजाकर बीजेपी-नीतीश कुमार के खिलाफ लड़ाई का बिगुल फूंका. उन्होंने शंख बजाने पर भी बीजेपी पर चुटकी ली कि अगर ये लोग बजाएंगे तब उनका हार्ट अटैक हो जाएगा.

यह भी पढ़ें : हमलोग संघर्ष करते रहेंगे, अब पूरे देश में बनेगा महागठबंधन: लालू की रैली में बोले शरद यादव

रैली को अनुशासित बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी
वहीं, तेजस्वी यादव रैली की तैयारी को लेकर जहां जिले-जिले में घुमे वहीं पहली बार राजद के इतिहास में किसी रैली को अनुशासित बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी. न केवल पहली बार स्टेज से लेकर जगह-जगह कैमरा और cctv लगवाया, बल्कि पार्टी के कार्यकर्ता और विभिना प्रकोस्ट के लोग हर जगह मुस्तैद दिखे. तेजस्वी का इस रैली के संबंध में अलग-अलग जिलों में दिया गया भाषण सुबह से बार-बार मंच से  दिखया जा रहा था. इससे साप था कि लालू यादव ने इस संबंध में आदेश दिया था कि तेजस्वी का जमकर प्रोजेक्शन किया जाए. तेजस्वी ने भी मंच पर सभी वरिष्ठ नेतओं को पैर छूकर प्रणाम किया. सबसे ज्यादा उन्होंने भाषण में नीतीश कुमार के साथ करवाहट के बाबजूद कहा कि वो मेरे चाचा थे, चाचा हैं और चाचा रहेंगे. 

VIDEO: लालू प्रसाद ने रैली में नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोला



लालू ने भाषण में तारीफ के पुल बांधे
तेजस्वी को लालू यादव ने भी पार्टी द्वारा जारी पोस्टर बैनर में तेजस्वी को खुलकर प्राथमिकता दी, वहीं तेजप्रताप यादव को भी नजरअंदाज नहीं किया. लालू ने अपने भाषण में तेजस्वी के तारीफ के पुल बांधे. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार को जलन था. लालू ने कहा कि तेजस्वी के कारण दो महत्वूर्ण ब्रिज दीघा -सोनपुर और  आरा-छपरा पुल का उद्घाटन हुआ. लालू ने कहा कि उन्होंने अपने दोनों बेटो को नीतीश के साथ मिलजुल कर काम करने की सलाह दी थी.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement