NDTV Khabar

खनन घोटाला मामला: चर्चित IAS बी चंद्रकला की बढ़ी मुसीबत, प्रवर्तन निदेशालय ने समन जारी किया

उत्तर-प्रदेश में हुए खनन घोटाला मामले में आईएएस चंद्रकला पर ईडी यानी प्रवर्तन निदेशालय का शिकंजा कसता जा रहा है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. बी चंद्रकला को ईडी का नोटिस.
  2. ईडी ने समन जारी कर पूछताछ के लिए बुलाया.
  3. खनन घोटाला मामले में चंद्रकला का नाम है.
नई दिल्ली:

उत्तर-प्रदेश में हुए खनन घोटाला मामले में आईएएस बी चंद्रकला ( B Chandrakala) पर ईडी यानी प्रवर्तन निदेशालय का शिकंजा कसता जा रहा है. प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने कथित उत्तर प्रदेश खनन घोटाले के सिलसिले में हमीरपुर की पूर्व जिला मजिस्ट्रेट बी. चंद्रकला तथा अन्य को समन किया है. पूछताछ अगले सप्ताह की जाएगी. बता दें कि पिछले दिनों बी. चंद्रकला (IAS B Chandrakala) के लखनऊ स्थित घर पर आज सीबीआई ने छापेमारी की थी. सीबीआई की ये छापेमारी खनन से जुड़े घोटाले की जांच के लिए हुई थी. 

Exclusive: IAS बी चंद्रकला ने CBI के छापे से 9 दिन पहले खरीदी थी प्रॉपर्टी, नए रिटर्न में कई संपत्तियां 'गायब'

बताया जा रहा है कि  पूछताछ के लिए बी चंद्रकला को 24 जनवरी को बुलाया गया है. चंद्रकला से लखनऊ स्तिथ ED के दफ़्तर में पूछताछ होगी. समाजवादी पार्टी से MLC रमेश मिश्रा भी इस मामले में आरोपी हैं. ED ने नोटिस भेजकर उन्हें 28 जनवरी को पूछताछ के लिए बुलाया है. 


सीबीआई छापे के बाद IAS बी. चंद्रकला की एक और कविता, 'जानेमन, तुम छिप-छिप कर आना'

ED के सूत्रों के मुताबिक फिलहाल 4 आरोपियों को पूछताछ के लिए नोटिस भेजा गया है. ईडी यह जांच यूपी के हमीरपुर वाले मामले में दर्ज FIR के मुताबिक ही जांच करेगी. ईडी की टीम अवैध खनन से उगाहे गए करोड़ो रूपये की काली कमाई के ठिकाने ढूंढ रही है. ED फिलहाल 11 आरोपियों के खिलाफ इस मामले की पड़ताल कर रही है.  

आपको बता दें कि सीबीआई ने 5 जनवरी को चंद्रकला के लखनऊ स्थित घर पर करीब दो घंटे तक छापेमारी की थी. IAS बी. चंद्रकला पर ग़लत तरीके से खनन पट्टे देने का आरोप है. चंद्रकला बुलंदशहर, हमीरपुर, मथुरा, मेरठ और बिजनौर में डीएम रह चुकी हैं. बी चंद्रकला  (IAS B Chandrakala) तेलंगाना के करीमनगर जिले की रहने वाली हैं. 2008 की यूपी काडर आईएएस हैं. बुलंदशहर में डीएम रहते चंद्रकला का 2014 में एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसने उन्हें सोशल मीडिया की सनसनी बना दिया. उस वीडियो में वह सड़क की खराब गुणवत्ता पर ठेकेदार और इंजीनियर को सरेआम फटकार लगा रहीं थीं. चंद्रकला कई जिलों में डीएम रहीं, जिसमें हमीरपुर भी शामिल है. 

खनन घोटाले में चर्चित IAS अधिकारी बी.चंद्रकला के घर सीबीआई की छापेमारी

हमीरपुर में डीएम रहते चंद्रकला पर सपा एमएलसी रमेश मिश्रा सहित कुल 10 लोगों के साथ मिलकर अवैध खनन का आरोप है. इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश पर जांच में जुटी सीबीआई ने 5 जनवरी को उनके अलावा अन्य आरोपियों के ठिकानों पर छापेमारी की. एक जनवरी 2019 को उनके खिलाफ सीबीआई के डिप्टी एसपी केपी शर्मा ने खनन मामले में केस दर्ज किया है. इस मामले की जांच जारी है.  

आईएएस बी चंद्रकला ने जब मेट्रो में किया सफर, तो खींची ऐसी सेल्फी कि हो गई वायरल

बताया जा रहा है कि यूपी में अवैध खनन मामले में सूत्रों का कहना है कि 2012 से जुलाई 2013 तक यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव भी खनन मंत्री रहे हैं. ऐसे में उनकी भूमिका की भी जांच होगी और सीबीआई से पूछताछ भी संभव है. 

CBI छापे पर IAS चंद्रकला का शायराना अंदाज, कहा- "रे रंगरेज! तू रंग दे मुझको"

दरअसल, समाजवादी पार्टी की सरकार में अवैध खनन को लेकर इलाहाबाद हाईकोर्ट में कई याचिकाएं पहुंचीं थीं. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 2016 में यूपी में अवैध खनन की जांच के आदेश दिए. यूपी के सात प्रमुख जिलों में अवैध खनन की शिकायत इलाहाबाद कोर्ट को मिली थी. उस दौरान फतेहपुर, देवरिया, शामली, कौशांबी, सहारनपुर, सिद्धार्थनगर, हमीरपुर में अवैध खनन का मामला सामने आया था. हमीरपुर मामले में दो जनवरी,2019 को सीबीआई के डिप्टी एसपी केके शर्मा ने केस दर्ज कराया.  इसी केस में शनिवार को सीबीआई ने आईएएस बी चंद्रकला के लखनऊ स्थित फ्लैट सहित 14 स्थानों पर छापेमारी की. ये छापेमारी कानपुर, लखनऊ, हमीरपुर, जालौन, नोएडा में भी हुई. आईपीसी की धाराओं 379,384,420,511 120 B और भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत संबंधितों पर केस दर्ज हुआ है.. 2012 से 2016 के बीच में बालू की माइनिंग अवैध तरीके से की गई थी. शिकायतों के मुताबिक अधिकारी अवैध खनन कर रहे लोगों और अवैध बालू ले जा रहे वाहनों के ड्राईवरों से पैसे ऐंठते थे.

खनन घोटाले में अखिलेश यादव से हो सकती है पूछताछ, CBI ने IAS बी चंद्रकला सहित 11 पर दर्ज किए हैं केस

टिप्पणियां

कैसे हुआ खेल
31 मई 2012 को यूपी सरकार की ओर से एक ऑर्डर जारी किया गया था. जिसमें जिसमें कहा गया था, जो भी माइनिंग होगी, वो ई टेंडर से होगी.लेकिन ये नियम फॉलो नहीं किया गया. हमीरपुर में अवैध खनन के मामले में दो जनवरी को दर्ज एफआई में सीबीआई ने बी चंद्रकला को आरोपी नंबर वन बनाया है. हमीरपुर में डीएम रहते हुए बी चंद्रकला ने अवैध तरीके से खनन के पट्टे आवंटित किए. छापेमारी के दौरान उनके घर से कुछ कागज़ मिले हैं. इसके अलावा एक लॉकर और 2 अकॉउंट से जुड़े कागजात हैं. 2 घर के बारे में जानकारी मिली. आरोपी नंबर टू आदिल खान हैं. आरोप है कि तत्कालीन खनन मंत्री गायत्री प्रजापति के चलते इन्हें खनन की लीज मिली. दिल्ली के लाजपत नगर और लखनऊ में घर है. तीसरे आरोपी हमीरपुर के मोइनुद्दीन हैं. जिनके घर से 12.5 लाख कैश, 1.8 किलो सोना मिला. चौथे आरोपी समाजवादी पार्टी के एमएलसी रमेश मिश्रा, इनके भाई दिनेश कुमार मिश्रा, पांचवा आरोपी हमीरपुर का माइनिंग क्लर्क राम आसरे प्रजापति रहा. छठें आरोपी के तौर पर अंबिका तिवारी पर केस दर्ज हुआ. अंबिका तिवारी रमेश का काम देखता था.  
 

VIDEO: आईएएस बी चंद्रकला के घर सीबीआई के छापे



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement