सरकार ने अगर उठाया यह कदम तो नहीं रहेगा रेल टिकटों का कोई एजेंट

पीयूष गोयल ने कहा कि टिकट बुक करने के लिए वेंडर और एजेंट की व्यवस्था को खत्म करने की जरूरत है ताकि टिकटिंग प्रणाली को पूरी तरह पारदर्शी बनाया जा सके.

सरकार ने अगर उठाया यह कदम तो नहीं रहेगा रेल टिकटों का कोई एजेंट

रेल मंत्रालय के मुताबिक टिकटिंग प्रणाली को पूरी तरह पारदर्शी बनाने की दिशा में काम किया जा रहा है.

खास बातें

  • सरकार रेल टिकटिंग को पारदर्शी बनाने की दिशा में काम कर रही है
  • पीयूष गोयल ने लोकसभा में दिया जवाब
  • सरकार उठाएगी अहम कदम
नई दिल्ली :

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को लोकसभा में कहा कि टिकट बुक करने के लिए वेंडर और एजेंट की व्यवस्था को खत्म करने की जरूरत है ताकि टिकटिंग प्रणाली को पूरी तरह पारदर्शी बनाया जा सके. वर्ष 2020-21 के लिए रेल मंत्रालय के नियंत्रणाधीन अनुदानों की मांगों पर चर्चा का जवाब देते हुए गोयल ने यह भी कहा कि अब सबके हाथ में मोबाइल है जिससे लोग टिकट बुक कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि सॉफ्टवेयर के इस्तेमाल से लोग बल्क टिकट निकालते थे और ऐसे लोगों पर कार्रवाई की गई है. गोयल ने कहा कि अब वेंडर और टिकटिंग एजेंट की व्यवस्था खत्म करने की जरूरत है.  लोगों के पास मोबाइल है और वे खुद टिकट निकाल सकते हैं. किसी को मदद चाहिए तो वह मंत्रालय के टिकट केंद्रों पर जाकर टिकट निकलवा सकते हैं.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रेलवे की खाली जमीन पर 20,000 मेगावॉट सौर ऊर्जा उत्पादन करने का लक्ष्य दिया है. गोयल ने दावा किया कि भारतीय रेलवे विश्व की पहली रेलवे बनेगी जिससे जीरो प्रदूषण होगा. रेल मंत्री ने कहा कि रेलवे जो अलग अलग विभागों में बंटी थी, विभागीय खींचतान से रेलवे में मतभेद रहता था, उस समस्या को समाप्त करने का साहस इस सरकार ने किया है.

उन्होंने कहा कि सबके साथ चर्चा करके हमने 8 सेवाओं को मिलाकर एक "इंडियन रेलवे मैनेजमेंट सर्विस" बनाने का साहसिक निर्णय लिया है. उन्होंने कहा कि मार्च 2014 तक देश के रेलवे स्टेशनों पर मात्र 143 एस्केलेटर्स और 97 लिफ्ट लगाई गयी थी, लेकिन पिछले 5 वर्षों में 519 नये एस्केलेटर्स लगे और 391 लिफ्ट लगाई गयीं. गोयल ने कहा कि अगले 4 वर्षों में 600 एस्केलेटर्स और 1,100 लिफ्ट लगाई जाएंगी.

ड्रॉपलेट्स से फैलता है संक्रमण: डॉ. एमबी संखवार



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com