माफियाओं के अवैध निर्माण पर यूपी सरकार सख्‍त, हो रही बुलडोजर चलाने या कुर्क करने की कार्यवाही

इलाहाबाद के अल्‍लापुर में कल रात निशाद पार्टी के दबंग MLA विजय मिश्रा की विशाल कोठी ढहा दी गई. प्रयागराज डेवलपमेंट अथॉरिटी ने छह जेसीबी मशीन लगाकर पांच घंटों में पूरी इमारत जमींदोज कर दी. इसके साथ उसके अजेय होने का मिथक भी टूट गया.

माफियाओं के अवैध निर्माण पर यूपी सरकार सख्‍त, हो रही बुलडोजर चलाने या कुर्क करने की कार्यवाही

प्रयागराज में सबसे बड़ी कार्रवाई बाहुबली अतीक अहमद की प्रापर्टी पर हुई है

खास बातें

  • माफिया राज को कमजोर करने के लिए हो रही कार्यवाही
  • दबंग MLA विजय मिश्रा की कोठी को ढहाया गया
  • अतीक और मुख्‍तार की अवैध इमारतों को जमींदोज किया
लखनऊ:

यूपी सरकार ने प्रदेश भर में 220 माफियाओं की 1000 करोड़ रुपये से ज्‍यादा की अवैध इमारतों पर या तो बुलडोलर चलवाया है या कुर्क कर ली है. सरकार का कहना है कि ऐसा माफिया राज को कमजोर करने के लिए किया जा रहा है. दूसरी ओर, इसका शिकार हो रहे माफियाओं के घर वाले कहते हैं कि उन्‍हें सियासी रंजिश में निशाना बनाया जा रहा है. इलाहाबाद के अल्‍लापुर में कल रात निशाद पार्टी के दबंग MLA विजय मिश्रा की विशाल कोठी ढहा दी गई. प्रयागराज डेवलपमेंट अथॉरिटी ने छह जेसीबी मशीन लगाकर पांच घंटों में पूरी इमारत जमींदोज कर दी. इसके साथ उसके अजेय होने का मिथक भी टूट गया. प्रशासन का कहना है कि यह बिल्डिंग गैरकानूनी है, इसके मालिकाना हक पर भी विवाद है. विजय मिश्रा की बेटी रीना पांडे का कहना है, 'यह घर 2009 से आज तक सीज है, हम इसको कैसे तुड़वा देंगे. आप बताइए हमें तो कोर्ट की परमीशन चाहिए न भैया.' 

पूर्व सांसद और बाहुबली अतीक अहमद के घर और दफ्तर पर CBI ने की छापेमारी

प्रयागराज में सबसे बड़ी कार्रवाई बाहुबली अतीक अहमद की प्रापर्टी पर हुई हैं. अतीक पांच बार एलएलए और एक बार सांसद रहे हैं. अतीक और उससे जुड़ेलोगों की करीब डेढ़ दर्जन इमारतों पर बुलडोलर चला दिया गया है. इनकी कीमत कई सौ करोड़ रुपये है, इनमें अतीक का आलीशान बंगला, चुनाव दफ्तर,अतीक की कमर्शियल प्रापर्टी बगैरह शामिल है. अतीक के समर्थकों ने इसका विरोध किया है.  प्रयागराज विकास प्राधिकरण के सचिव दयानंद प्रसाद कहते हैं, ये लगभग का चार बीघे के आसपास का निर्माण है, इसमें यूपी नगर नियोजन के अंतर्गत किसी प्रकार का भी मैप स्‍वीकृत नहीं कराया गया. पूर्व से ही यह अवैध निर्माण है. सरकार ने बाहुबली विधायक मुख्‍तार अंसारी और उनके साथियों की करीब 150 एकड़ की संपत्ति या तो ढहा दी या फिर जब्‍त कर ली है. मऊ में कल मुख्‍तार के  साथी ईशा खान का पेरिस होटल ढहा दिया. गाजीपुर में मुख्‍तार के परिवार का गजल होटल समेत कई इमारतें गिराई गईं लेकिन सबसे ज्‍यादा विवाद वहां शम्‍स हॉस्पिटल को ढहाए जाने पर हुआ, यह गाजीपुर का मशहूर कोविड हॉस्पिटल था.

Newsbeep

UP : निषाद पार्टी के MLA विजय मिश्रा और उनके बेटे पर एक सिंगर ने लगाया रेप का आरोप

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्‍पताल मालिक का कहना था कि उनके अस्‍पताल का मुख्‍तार से कोई संबंध नहीं है.शम्‍स हॉस्पिटल के मालिक आजम कादरी कहते हैं, 'बिना सुनवाई रात में 7:30 बजे आदेश रिसीव कराया गया और 8:20 बजे एंबुलेंस मरीज को शिफ्ट करने के लिए चली आई. सारे मरीजों को किसी तरह से शिफ्ट करना पड़ा. उन्‍होंने कहा कि बिल्डिंग गिराई जाएगी. पूरी फोर्स, 10 एंबुलेंस वहां थीं. यूपी के तमाम शहरों में माफियाओं की गैरकानूनी इमारतें गिराने का काम चल रहा है. मुख्‍तार अंसारी और उनके साथियों की गाजीपुर में 100 करोड़ से ज्‍यादा की इमारतें, मऊ में करीब 50 करोड़ की इमारतें हैं, अतीक अहमद और उनके साथियों की प्रयागराज में 500 करोड़ की इमारते हैं. विजय मिश्रा की 10 करोड़ की इमारह ढहा दी गई. सरकार का कहना है कि इसका मकसद माफिया गिरोहों को कमजोर करना है. लखनऊ में भी बड़े पैमाने पर अवैध इमारतें जमींदोज की गई है. डीएम लखनऊ कहते हैं, इसमें ड्राइव में यही कहा गया कि जो माफिया हैं जिन्‍होंने धन का दुरुपयोग करते हुए सरकारी जमीन पर कब्‍जा किया हो या अवैध बिल्डिंगका निर्माण किया हो, या बिना नक्‍शे के बिल्डिंग बनाई हो, इस प्रकार की इमारते हैं और इनके खिलाफ ध्‍वस्‍तीकरण की कार्रवाई सुनिश्चित की जा रही है.