वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और किरन मजूमदार-शॉ के बीच Twitter पर हुई तीखी बहस...

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) और दवा कंपनी बायोकॉन की प्रमुख किरन मजूमदार शॉ (Kiran Mazumdar Shaw) के बीच बृहस्पतिवार को ट्विटर पर अर्थव्यवस्था को लेकर सवाल जबाव हुए.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और किरन मजूमदार-शॉ के बीच Twitter पर हुई तीखी बहस...

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (फाइल फोटो)

नई दिल्ली :

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) और दवा कंपनी बायोकॉन की प्रमुख किरन मजूमदार शॉ (Kiran Mazumdar Shaw) के बीच बृहस्पतिवार को ट्विटर पर अर्थव्यवस्था को लेकर सवाल जबाव हुए. बाद में शॉ ट्वीटर पर इसे बहस बताए जाने को लेकर स्पष्ट किया कि यह कोई बहस नहीं बल्कि एक संवाद जैसा था. दरअसल मामला शॉ के एक ट्वीट से शुरू हुआ जिसमें उन्होंने ई-सिगरेट पर प्रतिबंध की घोषणा स्वास्थ्य मंत्री के बजाय वित्त मंत्री द्वारा किए जाने पर हैरानी जतायी. शॉ ने बृहस्पतिवार सुबह ट्वीट किया, 'वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने घोषणा की कि ई-सिगरेट प्रतिबंधित. क्या इसे स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा घोषित नहीं किया जाना चाहिए था? गुटखा को भी प्रतिबंधित करना कैसा रहेगा? वित्त मंत्रालय का अर्थव्यवस्था को फिर पटरी पर लाने के कदमों की घोषणा करना कैसा रहेगा?'' 

आमतौर पर ट्विटर पर इस तरह की बहस में नहीं उलझने वाली सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया में तीन ट्वीट किए. उन्होंने अपने पहले ट्वीट में कहा, ‘किरन जी, कुछ बातें हैं. यह संवाददाता सम्मेलन मंत्रिमंडल के निर्णयों के बारे में था. मैं यहां से शुरू करना चाहती हूं कि मैं वहां (संवाददाता सम्मेलन में) इस मामले पर गौर करने वाले मंत्री समूह की अध्यक्ष के तौर पर मौजूद थी. डॉक्टर हर्षवर्द्धन (स्वास्थ्य मंत्री) अंतरराष्ट्रीय बैठक के लिए देश से बाहर हैं.'' उन्होंने कहा, ‘साथ में जरूरत पड़ने के लिए सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर मौजूद थे और विस्तृत जानकारी देने के लिए स्वास्थ्य सचिव भी मौजूद थे. यह सरकारी संवाददाता सम्मेलन का प्रोटोकॉल है जिसका पालन किया गया.'' 

अपने तीसरे ट्वीट में सीतारमण ने कहा, ‘आपने मुझे एक वित्त मंत्री के तौर पर भी देखा होगा. मैं काम कर रही हूं और नियमित तौर पर बता रही हूं कि अर्थव्यवस्था के मामले में हम क्या कदम उठा रहे हैं.' गौरतलब है कि सीतारमण ने हाल ही में तीन चरणों में सरकार की ओर से अर्थव्यवस्था को संभालने वाले विभिन्न कदमों की घोषणा की थी. कुछ ट्विटर खाताधारकों ने इसे दोनों के बीच तीखी बहस के रूप में देखा. इस पर शॉ ने स्पष्ट किया कि यह कोई तीखी बहस नहीं थी. उनका मानना है कि देश की वित्त मंत्री ने उनके बयान पर सधी और परिपक्व प्रतिक्रिया दी. 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com