NDTV Khabar

बैंक घोटाला मामले में कनिष्क गोल्ड के खिलाफ ED का कसा शिकंजा, जांच शुरू

करीब 824 करोड़ के बैंक घोटाले में कनिष्क गोल्ड कंपनी के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी ने शिकंजा कस लिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बैंक घोटाला मामले में कनिष्क गोल्ड के खिलाफ ED का कसा शिकंजा, जांच शुरू

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली: करीब 824 करोड़ के बैंक घोटाले में कनिष्क गोल्ड कंपनी के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी ने शिकंजा कस लिया है. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कनिष्क गोल्ड प्राइवेट लिमिटेड के 824.15 करोड़ रुपये के बैंक घोटाले की जांच शुरू कर दी और कंपनी के कर्मियों के घरों, कार्यालयों की जांचें जारी हैं. ईडी के एक अधिकारी ने बताया, "हमने कनिष्क गोल्ड मामले में जांच शुरू कर दी है. कंपनी के कर्मियों के घरों, कार्यालयों पर जांच शुरू कर दी है."

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने स्थानीय कनिष्क गोल्ड पर भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) की अगुआई वाले 14 बैंकों के संघों को ठगने के आरोप में मामला दर्ज किया था. कंपनी ने संघ से 824.15 करोड़ रुपये का ऋण लिया था तथा बाद में ऋण खाता खराब स्थिति में पहुंच गया.

एक और 'नीरव मोदी' ने 14 बैंकों को लगाया 824 करोड़ का चूना

ऋण देने वालों में एसबीआई ने सर्वाधिक 240 करोड़ रुपये का ऋण, इसके बाद पंजाब नेशनल बैंक 128 करोड़ रुपये का ऋण, बैंक ऑफ इंडिया 46 करोड़ रुपये, आईडीबीआई 49 करोड़ रुपये, सिंडीकेट बैंक 54 करोड़ रुपये, यूनियन बैंक 53 करोड़ रुपये, यूको बैंक 45 करोड़ रुपये, सेंट्रल बैंक 22 करोड़ रुपये, कार्पोरेशन बैंक 23 करोड़ रुपये, बैंक ऑफ बड़ोदा 32 करोड़ रुपये, तमिलनाडु र्मक टाइल बैंक 27 करोड़ रुपये, एचडीएफसी 27 करोड़ रुपये, आईसीआईसीआई 27 करोड़ रुपये और आंध्रा बैंक 32 करोड़ रुपये का ऋण दिया है.

टिप्पणियां
सीबीआई ने गुरुवार को बेंगलुरू में कंपनी के निदेशकों भूपेश कुमार जैन और नीता जैन से पूछताछ की.

VIDEO: PNB घोटाले के बाद फंड पर फंदा (इनपुट आईएएनएस से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement