पिछले चुनाव में कांग्रेस ने चेहरा किसी और का दिखाया और मुख्यमंत्री किसी और को बना दिया : चौहान

गुना जिले के बमोरी विधानसभा क्षेत्र में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए चौहान ने कहा, ‘‘कांग्रेस ने वर्ष 2018 में मध्यप्रदेश में हुए चुनाव के पहले से ही धोखा देना शुरू कर दिया था."

पिछले चुनाव में कांग्रेस ने चेहरा किसी और का दिखाया और मुख्यमंत्री किसी और को बना दिया : चौहान

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (फाइल फोटो)

गुना :

मध्यप्रदेश विधानसभा की 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव से पहले राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को कांग्रेस को ''धोखेबाज पार्टी '' बताते हुए कहा कि प्रदेश में हुए पिछले विधानसभा चुनाव में इस पार्टी ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को मुख्यमंत्री बनाने के नाम पर जनता से वोट मांगे और बाद में कमलनाथ को मुख्यमंत्री बना दिया. गुना जिले के बमोरी विधानसभा क्षेत्र में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए चौहान ने कहा, ‘‘कांग्रेस ने वर्ष 2018 में मध्यप्रदेश में हुए चुनाव के पहले से ही धोखा देना शुरू कर दिया था.

जैसे शादी के पूर्व दूल्हा किसी और को बताया गया, बारात किसी और की निकाली लेकिन फेरे किसी और से पड़वा दिए.'' उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस धोखेबाज पार्टी है. उसने सिंधिया जी को धोखा दिया. चेहरा किसी और का दिखाया और मुख्यमंत्री किसी और को बना दिया.'' चौहान ने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने प्रदेश की जनता को भी धोखा दिया. कमलनाथ की पूर्व सरकार पर निशाना साधते हुए चौहान ने आरोप लगाया, ‘‘कमलनाथ तो मुख्यमंत्री बनने के बाद कहीं गए ही नहीं. जाते थे तो सिंधिया जी, जनता उनसे सवाल पूछती थी. क्षेत्र के विकास के लिए जब बमोरी विधानसभा क्षेत्र के (तत्कालीन विधायक) महेन्द्र सिंह सिसोदिया तत्कालीन मुख्यमंत्री के पास जाते थे तो कमलनाथजी कहते थे पैसे नहीं हैं, जाओ-जाओ. तो सिंधिया जी ने भी सरकार को कह दिया जाओ-जाओ.'' सिसोदिया सिंधिया के समर्थक हैं और वह भी कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुए हैं.

इस अवसर पर भाजपा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि जिसने भी सिंधिया परिवार के साथ धोखा किया, उसको सिंधिया परिवार ने करारा जवाब दिया है. उन्होंने कहा '' जब प्रदेश में युवाओं पर अत्याचार हुआ, तो मेरी दादी विजयाराजे सिंधिया ने सरकार गिरा दी. मेरे पिता को ललकारा गया, तो उन्होंने विकास कांग्रेस बनाकर करारा जवाब दिया. कमलनाथ सरकार भी जनता से किए हुए वादों से मुकर गई थी और युवा तथा किसानों के हितों का ध्यान नहीं रख रही थी. हमें मजबूरी में ऐसी सरकार गिरानी पड़ी. '' सिंधिया ने कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंच से कहा था कि 10 दिन में किसानों का कर्ज माफ होगा, नहीं तो 11 वें दिन मुख्यमंत्री बदल देंगे. हमने 10 महीने तक इंतजार किया. ''वादा करके भूल जाना ही गद्दारी है. '' उन्होंने आरोप लगाया कि दिग्विजय सिंह और कमलनाथ ने '' जनता के साथ गद्दारी की है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com