कोरोना वैक्सीन के उत्पादन की तैयारी, तीन-तीन वैक्सीन इस समय टेस्टिंग के चरण में : PM मोदी

पीएम नरेंद्र मोदी ने लाल किले की प्राचीर से देश से एक बड़ी जानकारी साझा की है. उन्होंने बताया है कि आज भारत में कोराना की एक नहीं, दो नहीं, तीन-तीन वैक्सीन इस समय टेस्टिंग के चरण में हैं. जैसे ही वैज्ञानिकों से हरी झंडी मिलेगी, देश की तैयारी उन वैक्सीन्स की बड़े पैमाने पर उत्पादन की भी तैयारी है.

कोरोना वैक्सीन के उत्पादन की तैयारी,  तीन-तीन वैक्सीन इस समय टेस्टिंग के चरण में : PM मोदी

कोरोना वायरस की 3-3 वैक्सीन का ट्रायल चल रहा है : पीएम मोदी

खास बातें

  • कोरोना वायरस पर पीएम मोदी का बड़ा ऐलान
  • तीन-तीन वैक्सीन क्लीनिकल ट्रायल पर
  • हरी झंडी मिलते ही उत्पादन की तैयारी
नई दिल्ली :

पीएम नरेंद्र मोदी ने लाल किले की प्राचीर से देश से एक बड़ी जानकारी साझा की है. उन्होंने बताया है कि आज भारत में कोराना की एक नहीं, दो नहीं, तीन-तीन वैक्सीन इस समय टेस्टिंग के चरण में हैं. जैसे ही वैज्ञानिकों से हरी झंडी मिलेगी, देश की तैयारी उन वैक्सीन्स की बड़े पैमाने पर उत्पादन की भी तैयारी है.  74वें स्वंतत्रता दिवस पर लाल किले की प्राचीर पर झंडा फहराने के बाद पीएम मोदी ने कोरोना संक्रमण का जिक्र करते हुए था कि देश का आज एक विशेष संकट से गुजर रहा है जिसकी वजह से यहां बच्चे भी नहीं आए हैं. उन्होंने कहा कि उन सभी डॉक्टर-नर्सों और कोरोना वारियर्स को देश नमन करता है जो इस बीमारी के चलते लोगों की सेवा कर रहे हैं. पीएम मोदी ने कहा कि जब कोरोना शुरू हुआ था तब हमारे देश में कोरोना टेस्टिंग के लिए सिर्फ एक लैब थी आज देश में 1,400 से ज्यादा लैब हैं. 

इसके साथ ही पीएम मोदी ने ऐलान किया है कि आज से देश में एक और बहुत बड़ा अभियान शुरू होने जा रहा है. ये है नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन. नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन, भारत के हेल्थ सेक्टर में नई क्रांति लेकर आएगा.  आपके हर टेस्ट, हर बीमारी, आपको किस डॉक्टर ने कौन सी दवा दी, कब दी, आपकी रिपोर्ट्स क्या थीं, ये सारी जानकारी इसी एक हेल्थ आईडी में समाहित होगी. 

गौरतलब है कि इस समय भारत में कोरोना वायरस के केसों की संख्या 24 लाख से ज्यादा पहुंच गई है. पूरी दुनिया में भारत में अब अमेरिका और ब्राजील के बाद तीसरे के बाद तीसरे नंबर पर है. भारत के लिए राहत वाली बात ये है कि यहां पर रिकवरी रेट 70 फीसदी से ज्यादा है और इस बीमारी से होने वाली मौतों की दर भी अन्य देशों की तुलना में कम है. हाल ही में रूस ने कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने का दावा किया है. लेकिन उसके दावे पर विश्व स्वास्थ्य संगठन और अमेरिका की ओर से विश्वास नहीं जताया जा रहा है. अब सारी उम्मीदें भारत पर एक बार फिर से टिक गई हैं क्योंकि इस भारत ने पहले भी कई बीमारियों की वैक्सीन बना चुका है. 
 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com