हैदराबाद एनकाउंटर : निर्दलीय सांसद नवनीत राणा ने कहा- एक मां, बेटी और पत्नी होने के नाते मैं इसका स्वागत करती हूं

तेलंगाना के हैदराबाद में हुए एनकाउंटर पर महाराष्ट्र से निर्दलीय सांसद नवनीत राणा ने कहा है, 'एक मां, बेटी और पत्नी होने के नाते मैं इसका स्वागत करती हूं नहीं तो वे सालों से जेल में ही दिन काटते रहते. निर्भया का नाम भी निर्भया नहीं होता लोगों ने नाम दिया था.

हैदराबाद एनकाउंटर : निर्दलीय सांसद नवनीत राणा ने कहा- एक मां, बेटी और पत्नी होने के नाते मैं इसका स्वागत करती हूं

महाराष्ट्र से निर्दलीय सांसद हैं नवनीत राणा

खास बातें

  • एनकाउंटर पर मिली जुली प्रतिक्रिया
  • कई सांसदों की भी अलग-अलग प्रतिक्रिया
  • नवनीत राणा ने किया समर्थन
नई दिल्ली:

तेलंगाना के हैदराबाद में हुए एनकाउंटर पर महाराष्ट्र से निर्दलीय सांसद नवनीत राणा ने कहा है, 'एक मां, बेटी और पत्नी होने के नाते मैं इसका स्वागत करती हूं नहीं तो वे सालों से जेल में ही दिन काटते रहते. निर्भया का नाम भी निर्भया नहीं होता लोगों ने नाम दिया था. मुझे लगता है कि उसे नाम देने के बजाए इन्हें ऐसा अंजाम देना जरूरी है'.  आपको बता दें कि इस एनकाउंटर का मुद्दा संसद में भी गूंज रहा है और इस पर मिलीजुली प्रतिक्रिया देखनो के मिल रही है. बीजेपी सांसद ने इस एनकाउंट पर सवाल उठाएं हैं. उन्होंने कहा कि वहां जो हुआ वह बहुत भयानक हुआ इस देश के लिए. आप लोगों को ऐसे नहीं मार सकते हैं. आप कानून को अपने हाथ में नहीं ले सकते हैं. मेनका गांधी ने कहा कि वे आरोपी थे और वैसे भी कोर्ट से उसे फांसी की सजा मिलती. उन्‍होंने कहा कि ऐसा होने लगे तो फिर फायदा क्‍या है कानून का, फायदा क्‍या है सिस्‍टम का. मेनका ने कहा, 'इस तरह तो अदलात और कानून का कोई फायदा ही नहीं, जिसको मन हो बंदूक  उठाओ जिसको मारना हो मारो. कानूनी प्रक्रिया में गए बिना आप उसे मार रहे हो तो फिर कोर्ट, कानून और पुलिस का क्‍या औचित्‍य रह जाएगा'. 

हैदराबाद एनकाउंटर पर आया बॉलीवुड एक्टर का रिएक्शन, बोले- हम किस दिशा में जा रहे हैं...?

वहीं कांग्रेस की राज्यसभा विप्लव ठाकुर ने भी पुलिस की थ्योरी पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा है कि एनडीटीवी से बातचीत में उन्होंने कहा, 'तेलंगाना पुलिस से कैसे हथियार छीन लिए. पुलिस हमारी इतनी निकम्मी हो गई है कोई भी हथियार छीन सकता है. लेकर गए हैं तो उनकी पास फ़ोर्स पूरी नहीं थी, कैसे भाग गए? पुलिस सवाल के घेरे में है.  भागने देने पर एनकाउंटर कर दिया. सजा के हक़ में हूं लेकिन पुलिस जो बता रही है,  मेरा मानना है कि कानून को अपना हाथ में नहीं लेना चाहिए था. इस मामले में जांच होनी चाहिए. पुलिस की लापरवाही है भाग रहे थे तो पैर में गोली मारनी चाहिए थी. 

हैदराबाद एनकाउंट पर बोलीं मेनका गांधी- फिर फायदा क्या है अदालत का, फिर तो आप बंदूक उठाओ जिसको मारना हो मारो

गौरतलब है कि तेलंगाना में रेप कांड के चारों आरोपियों का एनकाउंटर कर दिया गया है. इन चारों पर महिला वेटरनरी डॉक्टर के साथ रेप और मर्डर का आरोप था. पुलिस का दावा है कि ये सभी आरोपी भागने की कोशिश कर रहे थे और इस दौरान पुलिस की ओर से हुई फायरिंग में सभी आरोपी मारे गए हैं. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि यह पूरी आज तड़के 3 बजे से 6 बजे के बीच हुआ है. मिली जानकारी के मुताबिक अदालत में चार्जशीट दाखिल करने के बाद पुलिस इन चारों आरोपियों को घटनास्थल पर ले गई थी ताकि 'सीन ऑफ क्राइम' (रिक्रिएशन) की पड़ताल की जा सके. लेकिन उनमें से एक आरोपी ने पुलिसकर्मी का हथियार छीन कर भागने की कोशिश करने लगा. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि अगर यह आरोपी भाग जाते तो बड़ा हंगामा खड़ा हो जाता इसलिए पुलिस के पास दूसरा कोई रास्ता नहीं था और जवाबी फायरिंग में चारो आरोपी मारे गए.

तेलंगाना एनकाउंटर के बाद पुलिस का लोगों ने किया जबरदस्त स्वागत​

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com