Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

वैश्विक भूख सूचकांक में भारत 100वें पायदान पर, उत्तर कोरिया और बांग्लादेश जैसे देशों से भी पीछे

इंटरनेशनल फूड पॉलिसी रिसर्च इंस्टीट्यूट (आईएफपीआरआई) ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि बच्चों में कुपोषण की उच्च दर से देश में भूख का स्तर इतना गंभीर है और सामाजिक क्षेत्र को इसके प्रति मजबूत प्रतिबद्धता दिखाने की जरूरत है.पिछले वर्ष भारत इस सूचकांक में 97वें स्थान पर था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
वैश्विक भूख सूचकांक में भारत 100वें पायदान पर, उत्तर कोरिया और बांग्लादेश जैसे देशों से भी पीछे

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली:

एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत में भूख एक 'गंभीर' समस्या है और 119 देशों के वैश्विक भूख सूचकांक में भारत 100वें पायदान पर है. भारत उत्तर कोरिया और बांग्लादेश जैसे देशों से पीछे है लेकिन पाकिस्तान से आगे है. इंटरनेशनल फूड पॉलिसी रिसर्च इंस्टीट्यूट (आईएफपीआरआई) ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि बच्चों में कुपोषण की उच्च दर से देश में भूख का स्तर इतना गंभीर है और सामाजिक क्षेत्र को इसके प्रति मजबूत प्रतिबद्धता दिखाने की जरूरत है.पिछले वर्ष भारत इस सूचकांक में 97वें स्थान पर था.

बेंगलुरू में भूख से आज़ादी की पहल, इंदिरा कैंटीन में मिलेगा 10 रुपये में खाना

टिप्पणियां

आईएफपीआरआई ने एक बयान में कहा, '119 देशों में भारत 100वें स्थान पर है और समूचे एशिया में सिर्फ अफगानिस्तान और पाकिस्तान उससे पीछे हैं.' उन्होंने कहा, '31.4 के साथ भारत का 2017 का जीएचआई (वैश्विक भूख सूचकांक) अंक ऊंचाई की तरह है और 'गंभीर' श्रेणी में है. यह उन मुख्य कारकों में से एक है जिसकी वजह से दक्षिण एशिया इस साल जीएचआई में सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले क्षेत्रों में से एक है.'


वीडियो :  भोपाल में भूख से आजादी
रिपोर्ट के मुताबिक भारत चीन (29), नेपाल (72), म्यामां (77), श्रीलंका (84) और बांग्लादेश (88) से भी पीछे है. पाकिस्तान और अफगानिस्तान क्रमश: 106वें और 107वें स्थान पर हैं.
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... दिल्ली हिंसा : कौन है जाफराबाद में पुलिसकर्मी पर पिस्टल तानने वाला शाहरुख

Advertisement