NDTV Khabar

सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश में निगरानी के लिए एसएसबी की 18 नई चौकियां स्थापित

1751 किलोमीटर लंबी भारत-नेपाल सीमा और 639 किलोमीटर लंबी भारत-भूटान सीमा पर इस साल 72 नई बार्डर आउट पोस्ट खोली गईं

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश में निगरानी के लिए एसएसबी की 18 नई चौकियां स्थापित

सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) के डीजी सुरजीत सिंह देसवाल.

खास बातें

  1. अत्यधिक संवेदनशील सीमाओं पर अधिक जवानों की तैनाती
  2. देश में कुल चौकियों की संख्या 708 तक पहुंच गई
  3. दूरदराज की सभी चौकियों तक सड़क संपर्क सरकार की प्राथमिकता
नई दिल्ली:

भारत और चीन के बीच डोकलाम विवाद के बाद सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश में निगरानी के लिए सशस्त्र सीमा बल की 18  नई चौकियां बनाई गई हैं. इनमें एक हजार से ज़्यादा जवान तैनात किए गए हैं.

एसएसबी के डीजी सुरजीत सिंह देसवाल ने डोकलाम के आसपास जवानों की तैनाती के बारे में कुछ भी बोलने से मना कर दिया लेकिन इतना जरूर कहा कि अत्यधिक संवेदनशील सीमाओं पर अधिक जवानों की तैनाती की गई है.

टिप्पणियां

1751 किलोमीटर लंबी भारत-नेपाल सीमा और 639 किलोमीटर लंबी भारत-भूटान सीमा की निगरानी करने वाले बल की इस साल 72 नई बीओपी यानी कि बार्डर आउट पोस्ट खोली गई हैं. इनमें से तीन सिक्किम में और 15 अरुणाचल प्रदेश में हैं. यह चौकियां भूटान की सीमा के पास हैं. इससे देश में कुल चौकियों की संख्या 708 तक पहुंच गई है.


एसएसबी के मुताबिक दूरदराज की सभी चौकियों तक सड़क के जरिए संपर्क बनाना सरकार की प्राथमिकता है. इस दिशा में पुरजोर कोशिश हो रही है. केवल सड़क ही नहीं बल्कि हर पोस्ट पर बिजली आपूर्ति सुनिश्चित की गई है.

 
8hujpn3o

सिक्किम सेक्टर में चीन और भूटान से लगते ट्राइजंक्शन डोकलाम में पिछले साल चीनी सैनिकों के सामने भारतीय सैनिक लगभग ढाई महीने तक डटे रहे. बाद में जाकर बड़ी मुश्किल से दोनों देशों की सेनाएं वापस अपने इलाकों में लौटीं और संबंध सामान्य हुए. एसएसबी की यह नई चौकियां भूटान एवं नेपाल के चीन से लगते सीमा क्षेत्रों में निगरानी के लिए ही बनाई गई हैं ताकि किसी भी अप्रिय हालात से निपटा जा सके.


NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement