चीन ने कहा, 'सीमा पर गतिरोध कम करने के लिए भारत के साथ कर रहे हैं काम'

चीन और भारत की थल सेनाओं ने मई की शुरूआत में उपजे सीमा गतिरोध का हल करने के लिए छह नवंबर को कोर कमांडर स्तर की आठवें दौर की बैठक की थी.

चीन ने कहा, 'सीमा पर गतिरोध कम करने के लिए भारत के साथ कर रहे हैं काम'

प्रतीकात्‍मक फोटो

खास बातें

  • एलएसी पर दोनों देशों के बीच बनी हुई है तनाव की स्थिति
  • नवंबर में हुई थी कोर कमांडर स्‍तर की आठवें दौर की बैठक
  • चीनी प्रवक्‍ता ने कहा, सीमा पर गतिरोध और घटाने पर कर रहे काम
बीजिंग:

India-China standoff: पूर्वी लद्दाख (East Ladakh) में  सीमा पर गतिरोध और अधिक घटाने के लिए चीन और भारत काम कर रहे हैं तथा दोनों देश अगले दौर की वार्ताओं के लिए विशेष इंतजाम करने को लेकर परामर्श करेंगे. एक वरिष्ठ चीनी अधिकारी ने मंगलवार को यह कहा.चीन और भारत की थल सेनाओं ने मई की शुरूआत में उपजे सीमा गतिरोध का हल करने के लिए छह नवंबर को कोर कमांडर स्तर की आठवें दौर की बैठक की थी.यह पूछे जाने पर कि अगले दौर की वार्ता कब होगी, चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘चीन और भारत सीमा मुद्दे पर राजनयिक एवं सैन्य माध्यमों से संवाद कर रहे हैं तथा हम सीमा पर गतिरोध और अधिक घटाने के लिए काम कर रहे हैं. ''

अरुणाचल के नजदीक चीन ने किया तीन गांवों का निर्माण, ग्रामीणों को किया स्थानांतरित

उन्होंने कहा, ‘‘मौजूदा आमसहमति को क्रियान्वित करने के आधार पर, हम आगे की वार्ताओं के लिए विशेष इंतजाम करने को लेकर परामर्श करेंगे. ''अधिकारियों ने बताया कि भारतीय थल सेना के करीब 50,000 सैनिक पूर्वी लद्दाख में विभिन्न बफीर्ली चोटियों पर तैनात हैं. वहीं, सीमा पर गतिरोध को दूर करने के लिए दोनों देशों के बीच कई दौर की वार्ता का अब तक कोई ठोस नतीजा नहीं निकला है. चीन ने भी समान संख्या में सैनिक तैनात कर रखे हैं.


अरुणाचल में एलएसी के निकट चीन ने बसाए गांव

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)