NDTV Khabar

न्यूयॉर्क में मिलेंगे भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्री, इमरान खान के अनुरोध को भारत ने स्वीकारा

विदेश मंत्रालय ने कहा कि हमने पाकिस्तान का अनुरोध माना.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
न्यूयॉर्क में मिलेंगे भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्री, इमरान खान के अनुरोध को भारत ने स्वीकारा

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार

नई दिल्ली:

पाकिस्तान के अनुरोध को भारत सरकार ने स्वीकार लिया है. भारत के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने इस बाl की पुष्टि की है कि भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्री की न्यूयॉर्क में मुलाकात होगी. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि न्यूयॉर्क में सुषमा स्वराज और पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी की मुलाकात होगी. उन्होंने कहा कि मुलाकात का एजेंडा हालांकि अब तक तय नहीं किया गया है, लेकिन मुलाकात तय है. हालांकि, उन्होंने कहा कि अभी सिर्फ मुलाकात तय है, मुद्दा तय नहीं है. बता दें कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पीएम मोदी को चिट्ठी  लिख विदेश मंत्री स्तर की वार्ता की बात कही है. 

MEA प्रवक्ता ने रवीश कुमार ने कहा कि मैं इस बात को कंफर्म करता हूं कि पाकिस्तान के आग्रह पर भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों के बीच बैठक होगी. इस बैठक की तारीख और समय पर दोनों मिलकर फैसला लेंगे. यह सिर्फ एक बैठक होगी न कि कोई बातचीत या डायलॉग.


विदेश मंत्रालय प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि बातचीत और आतंकवाद साथ-साथ नहीं चल सकते. इस बैठक के बाद ही कुछ कहा जा सकता है. सीमापार आंतकवाद पर हमारी नीतियों में कोई बदलाव नहीं आया है.

सीतारमण का सिद्धू पर हमला, बोलीं- पाक सेना प्रमुख से गले लगने के कारण देश के सैनिक प्रभावित हुए 

इससे पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी. इमरान खान ने अपनी चिट्ठी में लिखा कि आंतकवाद पर फिर से बातचीत शुरू होनी चाहिए. इस चिट्ठी में ये भी लिखा गया है कि साकारात्मक बदलाव लाने के लिए वाजपेयी जी ने कोशिश की थी. बताया जा रहा है कि 15 सितंबर को इमरान ख़ान ने लिखी थी चिट्ठी. दरअसल, पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने पीएम नरेंद्र मोदी को जो चिट्ठी लिखी है, उसमें भारत और पाकिस्तान के बीच फिर से वार्ता बहाल करने की की बात कही गई है. पत्र में इमरान खान ने दोनों देशों के बीच विदेश मंत्री स्तर की वार्ता का भी सुझाव दिया है. साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि पाकिस्तान आतंकवाद पर भी बातचीत करने को हमेशा तैयार है. 

पाकिस्तान में अभी भी आतंकवाद फल-फूल रहा है, सेना ने ही इमरान को सत्ता में बिठाया: वीके सिंह

गौरतलब है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री का पत्र भारत के प्रधानमंत्री के पास ऐसे वक्त में आया है, जब एक दिन पहले ही अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर एक बीएसएफ जवान की पाकिस्तानी सैनिकों ने गला रेतकर हत्या कर दी थी. पिछले महीने शपथ ग्रहण करने के बाद प्रधानमंत्री मोदी को लिखे पत्र में इमरान खान ने कहा कि हम आपकी उस भावना का समर्थन करते हैं, जो दोनों देशों के लिए एकमात्र रास्ता "रचनात्मक इंगेजमेंट में निहित है" भावना है.

इमरान खान ने ISI के तारीफों के पुल बांधे, पाकिस्तान की 'फर्स्ट डिफेंस लाइन' बताया

ऐसा माना जा रहा है कि भारत और पाकिस्तान के बीच बातें हो सकती हैं. ऐसा इसलिए भी माना जा रहा है क्योंकि संयुक्त राष्ट्र की जनरल असेंबली के दौरान मुलाकात हो सकती है. सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज इस महीने न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) के इतर दक्षेस देशों के विदेश मंत्रियों की परिषद की अनौपचारिक बैठक में भाग ले सकती हैं. 

इमरान खान की पूर्व पत्नी ने पाकिस्तान सरकार पर साधा निशाना, कट्टरपंथियों के आगे झुकने का लगाया आरोप

क्या सच में बात करेंगे भारत-पाक?
ये सवाल इसलिए उठ रहा है क्यों कि सूत्रों के हवाले से ये ख़बरें आ रही है कि संयुक्त राष्ट्र की जनरल असेंबली के दौरान ऐसा हो सकता है. तो ऐसे में सवाल है कि दोनों देशों के विदेश मंत्रियों की मुलाकात न्यूयॉर्क में हो सकती है? आपको बता दें कि अगले हफ़्ते यूएन की जनरल असेंबली होने वाली है. सरकार के सूत्रों ने मुलाक़ात की संभावना से इनकार नहीं किया है. सरकार के सूत्रों के मुताबिक विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के शेड्यूल पर काम हो रहा है. पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने कहा है कि बातचीत पर अभी कोई फ़ैसला नहीं हुआ है. 

टिप्पणियां

इमरान की चिट्ठी के कुछ अहम प्वाइंटर्स :

  • पाक के पीएम इमरान खान ने पीएम मोदी को पाकिस्तान आने का न्योता दिया.
  • आतंकवाद पर भी बातचीत को पाक तैयार
  • संबंध मज़बूत करने के पाकिस्तान में सार्क सम्मेलन हो 
  • दोनों देशों के विदेश मंत्री की न्यूयार्क में मुलाक़ात हो
  • वे बातचीत की प्रक्रिया आगे बढ़ाने का काम करेंगे 
  • कश्मीर समेत तमाम विवाद बातचीत से सुलझाए जाएं
  • शांति वार्ता शुरू होनी चाहिए

VIDEO: मिशन 2019: नए दौर में सुधरेंगे भारत-पाक रिश्‍ते?



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement