NDTV Khabar

'पाकिस्तान परमाणु धमकी देना जारी रख सकता है, हम उससे नहीं डरते’, इंडियन आर्मी ने दिया बयान

सेना के पूर्वी कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल एम एम नरवाने ने मंगलवार को कहा कि पाकिस्तान परमाणु धमकी देना जारी रखे लेकिन भारत ऐसी धमकियों से भयभीत नहीं होगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'पाकिस्तान परमाणु धमकी देना जारी रख सकता है, हम उससे नहीं डरते’, इंडियन आर्मी ने दिया बयान

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  1. सेना के पूर्वी कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल एम एम नरवाने का बयान
  2. 'पाकिस्तान की परमाणु धमकियों से नहीं डरता भारत'
  3. इमरान खान की टिप्पणी पर दी प्रतिक्रिया
कोलकाता:

सेना के पूर्वी कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल एम एम नरवाने ने मंगलवार को कहा कि पाकिस्तान परमाणु धमकी देना जारी रखे लेकिन भारत ऐसी धमकियों से भयभीत नहीं होगा. नरवाने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की उस टिप्पणी पर प्रतिक्रिया व्यक्त कर रहे थे जो उन्होंने सोमवार को देश के नाम संबोधन में दोनों देशों की परमाणु क्षमताओं को लेकर की थी. लेफ्टिनेंट जनरल नरवाने ने यहां भारत चैंबर आफ कॉमर्स में ‘डिफेंडिंग आवर बार्डर्स' विषय पर एक चर्चा के दौरान कहा, ‘‘वे परमाणु धमकी देना जारी रख सकते हैं, हम उससे नहीं डरते.''

पाकिस्तान में मक्खियों का आतंक, विधानसभा में मांगी जा रही है विशेष दुआएं...हुआ ऐसा हाल

जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा प्रदान करने वाले अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को भारत द्वारा समाप्त करने के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फ्रांस में जी-7 शिखर सम्मेलन के दौरान अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ बैठक में भारत और पाकिस्तान के बीच कश्मीर मुद्दे पर किसी तीसरे पक्ष की मध्यस्थता की किसी भी संभावना को स्पष्ट तौर पर खारिज किया था. 


खान ने कहा था कि वह कश्मीर मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र महासभा सहित सभी अंतरराष्ट्रीय मंच पर उठाएंगे. उन्होंने कहा था,‘‘क्या ये बड़े देश केवल अपने आर्थिक हितों को ही देखते रहेंगे? उन्हें याद रखना चाहिए कि दोनों देशों के पास परमाणु हथियार हैं.'' नरवाने ने जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने पर कहा कि अनुच्छेद 370 के अधिकतर खंड इसलिए समाप्त कर दिये गए क्योंकि इसकी उपयोगिता समाप्त हो गई थी.

राहुल गांधी ने पाकिस्तान को लिया आड़े हाथ, कहा- कश्मीर में पाक फैला रहा है हिंसा

टिप्पणियां

उन्होंने कहा कि यह सही नहीं है कि जम्मू कश्मीर के लोग परिवर्तन का स्वागत नहीं कर रहे हैं, उन्होंने कहा कि अब दो हिस्सों में बंटे राज्य में से 55 प्रतिशत में लद्दाख है. उन्होंने कहा, ‘‘..कश्मीर के हिस्से में, केवल पांच जिले हैं जो कि अशांति (गत वर्षों में घाटी में आतंकवाद के लिए) के लिए जिम्मेदार हैं, तो क्या केवल पांच जिले पूरे देश को बंधक बनाकर रखेंगे?''

Video: आतंक ख़त्म किए बिना बात नहीं: अकबरुद्दीन



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement