भारत ने जाकिर नाईक के प्रत्यर्पण के लिए औपचारिक अनुरोध किया

नाईक लगभग दो सालों से भरतीय कानून से बचने के क्रम में मलेशिया में रह रहा है. बांग्लादेश में 2016 में हुए एक आतंकी हमले के बाद उसके खिलाफ यहां दाखिल किए गए मामलों के बाद से वह फरार है.

भारत ने जाकिर नाईक के प्रत्यर्पण के लिए औपचारिक अनुरोध किया

नाईक लगभग दो सालों से भरतीय कानून से बचने के क्रम में मलेशिया में रह रहा है

नई दिल्ली:

भारत ने मुंबई स्थित कट्टरपंथी उपदेशक जाकिर नाईक के प्रत्यर्पण के लिए मलेशिया से एक औपचारिक अनुरोध किया है. नाईक भारत में धनशोधन और घृणास्पद भाषण देने के लिए वांछित है. नाईक लगभग दो सालों से भरतीय कानून से बचने के क्रम में मलेशिया में रह रहा है. बांग्लादेश में 2016 में हुए एक आतंकी हमले के बाद उसके खिलाफ यहां दाखिल किए गए मामलों के बाद से वह फरार है. 

लोकसभा चुनाव में हार के बाद अब कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रियंका गांधी को लेकर की ये मांग

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने यहां बुधवार को कहा, "भारत सरकार ने डॉ. जाकिर नाई के प्रत्यर्पण के लिए औपचारिक अनुरोध किया है. हम मलेशिया के साथ इस मामले पर लगातार प्रयास करते रहेंगे." उन्होंने कहा कि कई देशों के साथ भारत की प्रत्यर्पण व्यवस्था है और अतीत में कई मामलों में भारत ने प्रत्यर्पण में सफलता पाई है. कुमार ने कहा, "भारतीय न्याय प्रणाली की ईमानदारी पर कभी सवाल नहीं उठा है. "

Newsbeep

इनपुट: IANS 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


Video: ED ने जाकिर नाइक की 18.37 करोड़ की संपत्ति कुर्क की